कोर्ट से साथी को भगाना चाहता था अपराधी, सिपाही ने की रोकने की कोशिश तो मार दी गोली

बिहार में विधि व्यवस्था की स्थिति इन दिनों बद से बदतर होती जा रही हैं. अपराधी दिन दिहाड़े किसी घटना को अंजाम देने से नहीं डरते.

कोर्ट से साथी को भगाना चाहता था अपराधी, सिपाही ने की रोकने की कोशिश तो मार दी गोली

दानापुर कोर्ट परिसर में अपराधी ने सिपाही को मारी गोली

नई दिल्ली:

बिहार में विधि व्यवस्था की स्थिति इन दिनों बद से बदतर होती जा रही हैं. अपराधी दिन दिहाड़े किसी घटना को अंजाम देने से नहीं डरते. बुधवार को एक ऐसे ही घटना में राजधानी पटना से सटे दानापुर कोर्ट परिसर में अपराधियों ने अपने साथी को भगाने के प्रयास में एक सिपाही की गोली मार कर हत्या कर दी.

यह घटना करीब 5 बजे की हैं. जब चार अपराधियों को छुड़ाने के प्रयास में एक सिपाही प्रभाकर राज जिसने इन्हें रोकने की कोशिश की, उसकी गोली मार कर हत्या कर दी. हालांकि कोर्ट परिसर में तैनात अन्य सुरक्षाकर्मियों के प्रयास से जिन अपराधियों को भगाने के प्रयास किए जा रहे थे वो सफल नहीं हो पाया. इससे पूर्व भी एक अपराधी दानापुर कोर्ट परिसर से फ़रार होने में कामयाब हुआ था.

अयोध्या विवाद: SC ने मांगी मध्यस्थता पैनल से स्टेटस रिपोर्ट, कहा- रिपोर्ट देखने के बाद हर दिन सुनवाई पर होगा फैसला

बहरहाल इस घटना के बाद राज्य; खासकर राजधानी पटना के विधि व्यवस्था पर सवालिया निशान किया जा रहा हैं. हालांकि राज्य के सत्तारूढ़ एनडीए के विधायक मानते हैं कि राज्य को विधि व्यवस्था लचर होती जा रही हैं. उनका कहना हैं कि ''जब राज्य के पुलिस महानिदेशक खुद थानों में जाकर औचक निरीक्षण का सुर्ख़ियों में बने रहने का खेल रहे हैं, वैसे में अपराधियों का मनोबल ऊंचा नहीं होगा तो क्या?'' 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इस घटना से दो बातें साफ हुई हैं कि अपराधियों का हौसला बुलंद हैं जिसका उदाहरण हैं कि वो कोर्ट परिसर में गोलीबारी से बाज नहीं आते. दूसरा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विधि व्यवस्था की कितनी बैठकें कर ले राज्य में पुलिस का डर और खौफ अपराधियों में कम होता जा रहा हैं.

Video: बिहार में पीड़ितों के खिलाफ ही FIR दर्ज