NDTV Khabar

बिहार विधान परिषद में विपक्ष की नेता बन सकती हैं पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी

अगले माह नवनिर्वाचित सदस्यों के शपथग्रहण के बाद उनकी पार्टी की ओर से इस आशय का एक प्रस्ताव बिहार विधानपरिषद के कार्यकारी सभापति को भेजा जाएगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार विधान परिषद में विपक्ष की नेता बन सकती हैं पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी

बिहाप की मुख्यमंत्री पद की भी जिम्मेदारी संभाल चुकी हैं राबड़ी देवी

पटना: बिहार विधानपरिषद की 11 सीटों के लिए हाल में चुनाव में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी सहित सभी दलों के प्रत्याशियों के निर्विरोध निर्वाचित घोषित होने के बाद विधानपरिषद में राजद के सदस्यों की संख्या 9 हो गई है और राबड़ी को अब सदन में प्रतिपक्ष का नेता बनाए जाने की संभावना प्रबल हो गई है. राजद के प्रदेश अध्यक्ष एवं नवनिर्वाचित सदस्य रामचंद्र पूर्वें ने बताया कि अगले माह नवनिर्वाचित सदस्यों के शपथग्रहण के बाद उनकी पार्टी की ओर से इस आशय का एक प्रस्ताव बिहार विधानपरिषद के कार्यकारी सभापति को भेजा जाएगा. बिहार विधानपरिषद के नियम के अनुसार सदन में दूसरे सबसे बड़े दल का दावा करने वाली पार्टी के किसी भी सदस्य को प्रतिपक्ष के नेता का दर्जा दिए जाने के लिए उक्त दल का कम से कम 10 सदस्य होना आवश्यक है. बहरहाल, इससे पहले नौ सदस्य होने पर राजद नेता गुलाम गौस को प्रतिपक्ष के नेता का दर्जा दिया जा चुका है. 

युवकों को रोजगार के बदले तलवारें दी जा रही हैं : तेजस्वी यादव

ऐसे संकेत हैं कि राजद विधानपरिषद में अपने सदस्यों की संख्या 10 करने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (सेक्यूलर) का पार्टी में विलय कराने की दिशा में कदम बढ़ा सकता है. मांझी के बेटे संतोष मांझी विधानपरिषद में चुने गए हैं. बिहार विधान परिषद में प्रतिपक्ष के नेता के तौर पर सदन के सबसे बड़े दूसरे दल से किसी अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्य को प्रतिपक्ष के नेता का दर्जा दिये जाने की एक परिपाटी रही है. विधानपरिषद में राजद के दो मुस्लिम सदस्य हैं, मोहम्मद कमर आलम और खुर्शीद मोहसिन.

टिप्पणियां
वीडियो : अगला चुनाव जय श्री राम-जय भीम के बीच होगा

बिहार विधानपरिषद के कार्यकारी सभापति मोहम्मद हारून रशीद ने बताया कि शपथग्रहण के बाद राजद की ओर से राजद के किसी सदस्य को सदन में प्रतिपक्ष के नेता के तौर दर्जा देने का कोई प्रस्ताव आएगा तब उस समय उस पर विचार कर वह कोई निर्णय करेंगे. बिहार विधान परिषद में राबड़ी देवी का कार्यकाल 6 मई को पूरा होगा. तब वह फिर से इस सदन के सदस्य के तौर पर शपथ लेंगी.  बिहार विधानपरिषद में अभी राजद की तरफ से राबड़ी को मिला कर कुल आठ सदस्य हैं. अभी तक प्रतिपक्ष के नेता का पद रिक्त था. उल्लेखनीय है कि 75 सदस्यीय बिहार विधान परिषद में नवनिर्वाचित हुए 11 सदस्यों के साथ जदयू के 32, भाजपा के 22, राजद के 9, कांग्रेस के 3, भाकपा एवं लोजपा के दो—दो, हम सेक्युलर एवं रालोसपा के एक—एक तथा 3 निर्दलीय सदस्य हैं.
 

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement