NDTV Khabar

रामविलास पासवान राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुने गए, अपने परिवार के चौथे सांसद बने

केंद्रीय मंत्री और लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के प्रमुख रामविलास पासवान शुक्रवार को राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित हुए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रामविलास पासवान राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुने गए, अपने परिवार के चौथे सांसद बने

रामविलास पासवान राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुने गए

नई दिल्ली:

केंद्रीय मंत्री और लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के प्रमुख रामविलास पासवान शुक्रवार को राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित हुए. बिहार विधानसभा के सचिव और रिटर्निंग ऑफिसर बटेश्वर नाथ पांडेय ने बताया कि उन्हें निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया और इस आशय का प्रमाण पत्र उन्हें सौंप दिया गया. रामविलास को प्रमाण पत्र उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी सहित राजग के अन्य वरिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में सौंपा गया. भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद जो कि हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव में पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र से सांसद चुने गए हैं, के राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे देने के बाद ऊपरी सदन की इस सीट पर उपचुनाव जरूरी हो गया था. 

तेजस्वी के संबंध में पूछे जाने पर पत्रकारों पर ही भड़कीं राबड़ी देवी, पूछा- आपके ही...


1960 के दशक में संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी के विधायक के तौर पर अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत करने वाले रामविलास दूसरी बार राज्यसभा के लिए चुने गए हैं. 2009 के लोकसभा चुनाव में अपने हाजीपुर संसदीय क्षेत्र से पराजित हो जाने पर रामविलास अपने सहयोगी दल राजद की मदद से 2010 में राज्यसभा के सदस्य के तौर पर चुने गए थे. रामविलास ने अपने कार्यकाल की समाप्ति से दो साल पहले 2014 में राज्यसभा से इस्तीफा देकर राजग के उम्मीदवार के तौर पर हाजीपुर से चुनाव लड़ा था और विजयी रहे थे. 

बिहार : सीबीआई ने सीजीएसटी के दो अफसरों को विधान पार्षद से रिश्वत लेते हुए पकड़ा

टिप्पणियां

बिहार में राजग में शामिल भाजपा, जदयू और लोजपा के हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव को लेकर अपने सीट साझा की योजना की घोषणा के समय रामविलास ने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने और राज्यसभा का मार्ग चुनने की बात कही थी. रामविलास ने हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव में हाजीपुर सीट से अपने छोटे भाई और लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस को अपनी पार्टी का उम्मीदवार बनाया था और वे विजयी रहे थे. 

इनपुट- भाषा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement