NDTV Khabar

अमित शाह से मिले रामविलास पासवान, दलितों के खिलाफ अपराध पर अध्यादेश लाने की रखी मांग

पासवान ने कहा कि बिहार सबसे गरीब राज्यों में एक है. कई राज्य इसकी मांग कर रहे हैं. बिहार इसका हकदार है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अमित शाह से मिले रामविलास पासवान, दलितों के खिलाफ अपराध पर अध्यादेश लाने की रखी मांग

राम विलास पासवान की फाइल फोटो

नई दिल्ली: देश में दलितों के खिलाफ हो रहे अपराध पर अध्यादेश लाने की मांग को लेकर रविवार को लोकजनशक्ति पार्टी के प्रमुख राम विलास पासवान ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की. उन्होंने समुदाय के लिए पदोन्नति में आरक्षण सुनिश्चित करने की भी मांग की. केंद्रीय मंत्री पासवान ने बताया कि उन्होंने बिहार को विशेष श्रेणी का दर्जा देने का मुद्दा भी उठाया. उन्होंने कहा कि सबसे गरीब राज्यों में एक होने के कारण बिहार इसका हकदार है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लंबे समय से यह मांग उठा रहे हैं.

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट ने अगर SC/ST कानून को ‘हल्का’ किया, तो केन्द्र लाएगा अध्यादेश: पासवान

पासवान ने कहा कि बिहार सबसे गरीब राज्यों में एक है. कई राज्य इसकी मांग कर रहे हैं. बिहार इसका हकदार है. पासवान के साथ उनके बेटे और सांसद चिराग पासवान भी थे. उन दोनों ने बिहार के संबंध में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की. अगले साल लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा नीत राजग के समग्र प्रदर्शन के लिए यह राज्य बहुत महत्वपूर्ण होगा. बैठक में पासवान ने अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार रोकथाम) कानून के मूल कड़े प्रावधानों को बहाल करने के लिए अध्यादेश लाने की जरूरत पर बल दिया.

यह भी पढ़ें: न्यायपालिका में रिज़र्वेशन की मांग पर अड़े बीजेपी के सहयोगी

उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को उन प्रावधानों को हटाने के लिए उच्चतम न्यायालय का रुख करना चाहिये जो सरकारी नौकरियों में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति को पदोन्नति में आरक्षण देने की राह में आड़े आते हैं. उन्होंने कहा कि अगर जरूरी हुआ तो सरकार को इस पर अध्यादेश लाना चाहिए.

टिप्पणियां
VIDEO: इन मंत्रियों ने की न्यायपालिका में आरक्षण की मांग.


पासवान ने कहा कि दलितों के मुद्दे पर शाह उनके विचारों से सहमत हुए और उन्होंने सकारात्मक रुख प्रकट किया. (इनपुट भाषा से) 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement