RJD ने मनाया अपना 24वां स्थापना दिवस, लालू के बेटों ने पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में वृद्धि के विरोध में साइकिल रैली निकाली

राजद के 24 वें स्थापना दिवस के अवसर पर तेजस्वी यादव अपने बडे़ भाई तेजप्रताप के साथ पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में वृद्धि के विरोध में पटना स्थित पूर्व मुख्यमंत्री और अपनी माता राबडी देवी के आवास से पार्टी के प्रदेश मुख्यालय तक साइकिल रैली निकाली.

RJD ने मनाया अपना 24वां स्थापना दिवस, लालू के बेटों ने पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में वृद्धि के विरोध में साइकिल रैली निकाली

RJD द्वारा रविवार को 24वां स्थापना दिवस मनाया गया(फाइल फोटो)

खास बातें

  • राजद ने मनाया अपना 24वां स्थापना दिवस
  • पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ निकाली साइकिल यात्रा
  • जनता दल में विभाजन के परिणामस्वरूप RJD अस्तित्व में आया था
पटना:

बिहार में मुख्य विपक्षी लालू प्रसाद की राष्ट्रीय जनता दल (RJD) द्वारा रविवार को 24 वें स्थापना दिवस मनाए जाने के साथ लालू प्रसाद के बेटों ने पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ पटना में साइकिल रैली निकाली. पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह द्वारा स्थापित जनता दल में विभाजन के परिणामस्वरूप RJD अस्तित्व में आया था. लालू जो उस समय उसके कार्यवाहक अध्यक्ष थे और संगठनात्मक चुनावों में अपने प्रतिद्वंदी शरद यादव के हाथों उन्हें अपनी हार की आशंका थी. इस कदम से पूर्व मुख्यमंत्री लालू जिन्हें चारा घोटाला मामले में अपने खिलाफ दायर आरोप पत्र के कारण गिरफ्तारी का सामना करना पड़ा था, अपनी पत्नी राबड़ी देवी जो तब तक राजनीति से दूर रही थीं, को पदभार सौंपने में मदद मिली थी.

RJD ने लगातार तीसरे साल अपने संस्थापक अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की अनुपस्थिति में अपना स्थापना दिवस मनाया है क्योंकि वे चारा घोटाला मामले में झारखंड जिसे वर्ष 2000 में बिहार से अलग कर नया राज्य बनाया गया था, की राजधानी रांची में वर्तमान में सजा काट रहे हैं. राजद के 24 वें स्थापना दिवस के अवसर पर तेजस्वी यादव अपने बडे़ भाई तेजप्रताप के साथ पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में वृद्धि के विरोध में पटना स्थित पूर्व मुख्यमंत्री और अपनी माता राबडी देवी के आवास से पार्टी के प्रदेश मुख्यालय तक साइकिल रैली निकाली.

इससे पूर्व लालू के छोटे बेटे और उनके राजनीतिक उत्तराधिकारी माने जाने वाले तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा, 'मैं उस समय बहुत छोटा था, इसलिए मुझे उन दिनों की याद नहीं है, लेकिन लालू प्रसाद यादव एक व्यक्ति नहीं बल्कि एक विचारधारा हैं. उनकी न केवल हमें बल्कि बड़े पैमाने पर लोगों को कमी महसूस हो रही है.' 

तेजस्वी जिन्होंने अपने पिता के नेतृत्व में 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव से अपनी राजनीति की शुरुआत की थी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली तत्कालीन महागठबंधन सरकार में 25 साल की उम्र में उपमुख्यमंत्री की जिम्मेदारी मिली थी और आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी ने उन्हें मुख्यमंत्री पद के भावी उम्मीदवार के रूप में पेश किया जा रहा है.

उन्होंने आरोप लगाया कि देश में ऐसा पहली बार हो रहा है कि कच्चे तेल की कीमतों में कमी आने के बावजूद लगातार पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाए जा रहे हैं. इससे आम आदमी से लेकर किसान तक परेशान हैं. तेजस्वी ने आरोप लगाया, 'सभी को पता है कि पहले (सत्ता में आने से पूर्व) मंहगाई भाजपा को ‘डायन' नजर आती थी और अब (सत्ता में आने के बाद) 'भौजाई' नजर आ रही है.'

उन्होंने कहा, 'बिहार में ‘डबल इंजन' (केंद्र और राज्य में सत्तासीन राजग सरकार) की सरकार है. जब मंहगाई की मार पूरा देश झेल रहा है, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार क्यों चुप्पी साधे हुए हैं. तेजस्वी ने अरोप लगाया कि जो लोग मंहगाई दूर करने, कल कारखाने लगाने, रोजगार देने और किसानों की आय दोगुनी करने का वादा कर सत्ता में आए थे, इससे में विफल रहे. उन्होंने कहा कि यही नहीं बिहार के साथ सौतेला व्यवहार किया गया. डबल इंजन की सरकार ने वादा कर बिहार को विशेष आर्थिक पैकेज और विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिया.

तेजस्वी ने कहा कि राजद गरीबों, मजदूरों और किसानों का दल है, इसलिए पंचायत से लेकर राज्य मुख्यालय स्तर तक पार्टी के कार्यकर्ता और पांच किलोमीटर साइकिल चलाकर प्रदर्शन कर रहे हैं. उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कार्यकाल के दौरान प्रदेश में बेरोजगारी के चरम पर होने का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश में लालू जी (केंद्र में जब मंत्री थे) के द्वारा लगाए गए ही मात्र तीन कारखाने चालू हैं.

Newsbeep

अपने सैकडों समर्थकों के साथ साइकिल पर सवार होकर राजद मुख्यालय पहुंचे बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी ने पार्टी कार्यालय में राजद के 24 वें स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित एक समारोह को भी संबोधित किया. वहीं, राजद की स्थापना दिवस के अवसर पर जदयू द्वारा तेजस्वी के फोटो के साथ उनके 24 संपत्ति को लेकर पटना के विभिन्न स्थानों पर लगाए गए पोस्टर का उल्लेख करते हुए सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार ने आरोप लगाया कि राजनीति को संपत्ति सृजन का माध्यम मानने वाले के बारे में कहा जाता है कि ‘फेलस्वी तेजस्वी' हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा कि 'यह तो एक झांकी है. अभी लंबी फेरिस्त आनी बाकी है. राजद का यह 24 वर्ष राजनीति का काला अध्याय है जिसका नेता जेल की सलाखों के पीछे है और जिसके नेता को भ्रष्टाचार के मामले में पटियाला कोर्ट ने दंडवत होना पड़ रहा है. उल्लेखनीय है कि नीरज पिछले महीने लालू प्रसाद यादव के 73 वें जन्म दिवस पर उनके परिवार की कथित 73 संपत्ति के बारे में खुलासा किया था.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)