NDTV Khabar

मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत पर PM मोदी-अमित शाह की चुप्पी को लेकर कुशवाहा ने उठाए सवाल, कही यह बात

उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) ने मुजफ्फरपुर में एक्यूट इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम (AES) से बड़ी संख्या में हुई बच्चों की मौत पर PM मोदी और अमित शाह की चुप्पी को लेकर सवाल उठाए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत पर PM मोदी-अमित शाह की चुप्पी को लेकर कुशवाहा ने उठाए सवाल, कही यह बात

आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने पीएम मोदी और अमित शाह पर निशाना साधा.

पटना:

पूर्व केंद्रीय मंत्री और RLSP प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) ने मुजफ्फरपुर में एक्यूट इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से बड़ी संख्या में बच्चों की हुई मौत के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को जिम्मेदार ठहराया. साथ ही RLSP प्रमुख ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की मामले पर चुप्पी को लेकर भी सवाल उठाए हैं. बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी के इस मुद्दे पर कुछ भी नहीं बोलने के बारे में पूछे जाने पर कुशवाहा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, जो गृह मंत्री भी हैं, ने भी बच्चों की मौत पर शोक व्यक्त नहीं किया है. उन्होंने कहा कि यह उनकी असंवेदनशीलता को दर्शाता है. यह प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी है, उन्हें मामले का संज्ञान लेना चाहिए.

यह भी पढ़ें: मुजफ्फरपुर के अस्पताल में कन्हैया कुमार को नहीं मिली घुसने की इजाजत, तो बोले...


वहीं, कुशवाहा ने नीतीश कुमार से इस्तीफे की भी मांग की है. उपेंद्र कुशवाहा ने पटना स्थित रालोसपा के प्रदेश मुख्यालय में मुजफ्फरपुर में बड़ी संख्या में बच्चों की मौत के लिए नीतीश को जिम्मेदार ठहराया और आरोप लगाया कि बच्चों की मौत के बावजूद राज्य सरकार ने इसे रोकने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया है. पूरी स्वास्थ्य सेवाओं को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया है.

यह भी पढ़ें: क्‍या चुप्‍पी साध कर जानबूझकर नीतीश कुमार को निशाना बनने दे रहे बीजेपी नेता?

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा, 'मुख्यमंत्री केवल आश्वासन देते हैं. उद्देश्य की पूर्ति नहीं करते. या तो आप कार्य करें या मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दें.' उन्होंने कहा कि रालोसपा नीतीश की असफलताओं को उजागर करने के लिए सड़कों पर उतरेगी. कुशवाहा ने राज्य सरकार पर चिकित्सकों के सभी स्वीकृत पदों को भरने में विफल रहने का आरोप लगाया.
यह भी पढ़ें: 'बच्चों की मौत के लिए लीची को जिम्मेदार ठहराना इस फल को बदनाम करने की साजिश तो नहीं'

उन्होंने केंद्र और बिहार सरकार पर स्वास्थ्य सेवा में सुधार को लेकर केवल घोषणाएं करने का आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री द्वारा चार साल पहले की गई घोषणाओं को पूरा किया जाना अभी बाकी है. 

टिप्पणियां

VIDEO: बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था कब तक बीमार रहेगी?​

(इनपुट: भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement