NDTV Khabar

राहुल गांधी के बाद अब शत्रुघ्न सिन्हा भी बोले- PM किसान सम्मान निधि योजना किसानों के लिए अपमानजनक

मोदी सरकार ने अंतरिम बजट 2019-20 में घोषणा की है कि दो हेक्टेयर तक कृषि योग्य भूमि रखने वाले 12 करोड़ किसानों को प्रत्येक साल छह हजार रुपये की राशि उनके खाते में इस साल से दी जाएगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राहुल गांधी के बाद अब शत्रुघ्न सिन्हा भी बोले- PM किसान सम्मान निधि योजना किसानों के लिए अपमानजनक

भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा.

खास बातें

  1. राहुल गांधी के बाद शत्रुघ्न सिन्हा का निशाना
  2. सिन्हा ने कहा- मोदी सरकार ने किया किसानों का अपमान
  3. पीएम किसान योजना पर उठाए सवाल
पटना:

भारतीय जनता पार्टी (BJP) से नाराज चल रहे नेता शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha)ने रविवार को केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की आलोचना करते हुए कहा कि अंतरिम बजट (Budget)में की गई घोषणा किसानों के लिए ‘अपमानजनक' है. मोदी सरकार (Modi Govt)ने अंतरिम बजट 2019-20 में घोषणा की है कि दो हेक्टेयर तक कृषि योग्य भूमि रखने वाले 12 करोड़ किसानों को प्रत्येक साल छह हजार रुपये की राशि उनके खाते में इस साल से दी जाएगी. 

कई ट्वीट करते हुए सिन्हा ने कहा कि वह पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम के उस बयान से सहमत हैं कि यह लेखानुदान नहीं था बल्कि वोटों का लेखा-जोखा था. उन्होंने कहा, ‘बजट का उस 60 फीसदी जनता से कोई लेना-देना नहीं था, जिनकी उम्र 35 साल से कम है और जो बेरोजगारी का सामना कर रहे हैं.'


किसानों के लिए खुशखबरी: इस स्कीम के तहत इसी महीने से खाते में पैसा भेजना शुरू कर देगी मोदी सरकार

बता दें, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को पटना में रैली को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि भाजपा की सरकार ने उद्योगपतियों का करोडों रूपये का कर्ज माफ किया लेकिन नरेंद्र मोदी ने किसानों का एक रूपये का कर्ज भी माफ नहीं किया. राहुल ने हाल में संपन्न पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों का जिक्र करते हुए कहा कि हमने चुनाव के समय किसानों का कर्ज माफ करने का वादा किया था जिसे मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ और राजस्थान में सत्ता में आने पर पूरा किया. उन्होंने हाल में पेश बजट में किसानों के लिए की गई घोषणा का जिक्र करते हुए कहा कि भाजपा नेताओं ने उसे ऐतिहासिक निर्णय बताया. उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान के प्रत्येक किसान को 17 रुपये देकर उनका अपमान किया गया है, इसका जवाब किसान भाजपा को देंगे. मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के किसानों ने नरेंद्र मोदी और भाजपा को अपना जवाब दे दिया है. 

राहुल ने आरोप लगाया कि एक तरफ नरेंद्र मोदी उद्योगपतियों के साढे़ तीन लाख करोड़ रूपये माफ करते हैं लेकिन किसानों द्वारा इसकी मांग करने पर अरुण जेटली कहते हैं यह हमारी नीति में शामिल नहीं है. 

राहुल गांधी ने बजट को बताया, 'आखिरी जुमला बजट', कहा- डियर NoMo, किसानों को 17 रुपये प्रतिदिन देकर की उनकी बेइज्जती

संसद में बट पेश होने के बाद कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार की ओर से शुक्रवार को संसद में पेश बजट को ‘भाजपा का चुनावी घोषणापत्र' करार दिया और आरोप लगाया कि छोटे एवं सीमांत किसानों के लिए प्रतिदिन 17 रुपये का प्रावधान कर देश के अन्नदाताओं का अपमान किया गया है. 

कांग्रेस ने यह भी दावा किया कि अंतरिम बजट की बजाय पूर्ण बजट पेश करके स्थापित परंपराओं को भंग किया तथा संविधान के खिलाफ काम किया है. कांग्रेस अध्यक्ष अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘प्रिय नरेंद्र मोदी जी, आपकी पांच वर्षों की अक्षमता और अहंकार ने हमारे किसानों के जीवन को बर्बाद कर दिया. उन्हें प्रतिदिन 17 रुपये देना हर उस चीज का अपमान है जिसके लिए किसान खड़े हैं और काम कर रहे हैं.' बाद में उन्होंने एक सवाल के जवाब में मीडिया से कहा था, ‘आप (सरकार) 15 लोगों का साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये माफ कर सकते हो और किसान को दिन के 17 रुपये देते हो. यह अपमान नहीं है तो और क्या है?'

(इनपुट- भाषा)

पटना रैली: राहुल गांधी बोले- कांग्रेस सत्ता में आई तो सभी किसानों का कर्ज होगा माफ, डालेंगे गरीबों के खाते में पैसे

टिप्पणियां

VIDEO- कैसा रहा मोदी सरकार का अंतरिम बजट, विशेषज्ञों ने बताया

 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement