NDTV Khabar

शिवानंद तिवारी ने प्रशांत किशोर को नीतीश का साथ छोड़ने की सलाह दी, यह बताया कारण

कहा- नीतीश जी अपने इर्द-गिर्द किसी भी स्वाभिमानी और स्वतंत्र विचार रखने वाले व्यक्ति को सहन नहीं कर सकते

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शिवानंद तिवारी ने प्रशांत किशोर को नीतीश का साथ छोड़ने की सलाह दी, यह बताया कारण

आरजेडी के नेता शिवानंद तिवारी ने प्रशांत किशोर को नीतीश कुमार का साथ छोड़ने की सलाह दी है.

खास बातें

  1. कहा- प्रशांत किशोर की हर मसले पर अपनी सुचिंतित राय
  2. अपनी बात बहुत बेबाकी से रखना प्रशांत के लिए झंझट का कारण
  3. आज प्रशांत जिन लोगों के साथ हैं उनका लोकतंत्र में यकीन नहीं
पटना:

जनता दल यूनाइटेड के (JDU) राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) को अपनी बेबाक टिप्पणी के कारण अपनी पार्टी के नेताओं की आलोचना झेलनी पड़ रही है. वहीं विपक्षी आरजेडी (RJD) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी (Shivanand tivary) ने एक बयान में प्रशांत किशोर को सलाह दी है कि वे जनता दल यूनाइटेड से निकलें.

शिवानंद तिवारी ने फेसबुक पर साझा की गई एक पोस्ट में लिखा है कि 'प्रशांत किशोर नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के साथ टिक नहीं पाएंगे. नीतीश जी को मैं लंबे अरसे से जानता हूं अपने इर्द-गिर्द किसी भी स्वाभिमानी और स्वतंत्र विचार रखने वाले व्यक्ति  को वे सहन नहीं कर सकते हैं.'

शिवानंद ने कहा है कि 'प्रशांत को मैंने सुना और पढ़ा है. हर मसले पर उनकी अपनी सुचिंतित राय है. उनकी हर राय नीतीश जी की राय से मेल खाए यह जरूरी नहीं है. लेकिन प्रशांत अपनी बात बहुत बेबाकी से रखते हैं, झंझट यहीं है. नीतीश जी से अलग राय रखकर आप उनके साथ नहीं रह सकते हैं. अगर रखते हैं तो उसे प्रकट नहीं कर सकते हैं. प्रशांत अगर नीतीश जी से अलग हटते हैं तो इससे उनको कोई हानि पहुंचने वाली नहीं है. प्रशांत का नाम और शोहरत दूर तक फैल चुकी है. इसलिए कहीं भी उनका स्वागत होगा.'


VIDEO: यही है प्रशांत किशोर का 'प्रधानमंत्री-मुख्यमंत्री' वाला वह बयान, जिस पर जदयू भी है खिलाफ

तिवारी ने कहा है कि 'मेरा उनसे एक ही अनुरोध होगा. वह भी इसलिए कि कर्म के स्तर पर वे चुनाव के साथ बहुत नजदीक से जुड़े रहे हैं. इसलिए देश में चुनावों के जरिए ही सरकारें बनें, इसके प्रति उनकी निष्ठा जरूर होगी. आज वे जिन लोगों के साथ हैं उनका लोकतंत्र में यकीन नहीं है. उनका बस चले तो आज वे लोकतंत्र को देश से मिटा दें. उन्माद का माहौल पैदा कर रोजी, रोटी, रोजगार, किसानी आदि की समस्याओं से लोगों का ध्यान भटकाकर वे सत्ता हासिल करना चाहते हैं.'

VIDEO : प्रशांत किशोर को जेडीयू में मिली नंबर 2 की कुर्सी

टिप्पणियां

शिवानंद तिवारी ने कहा है कि 'देशभक्ति के नाम पर उन्माद का माहौल बनाया जा रहा है. किसी भी तरह के सवाल को देशद्रोह बताया जा रहा है. इसलिए प्रशांत जी से मेरा अनुरोध होगा कि इनको छोड़िए. इनसे लड़ने वाली किसी भी पार्टी से जुड़िए और लोकतंत्र को बचाने के नेक और पवित्र अभियान में अपना कंधा लगाइए.'



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement