NDTV Khabar

अतिचतुराई में सही आकलन नहीं कर पाए नीतीश, उलटी गिनती शुरू: शिवानंद तिवारी

मोदी कैबिनेट में जेडीयू को जगह नहीं मिलने पर राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने सीएम नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला.

10348 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अतिचतुराई में सही आकलन नहीं कर पाए नीतीश, उलटी गिनती शुरू:  शिवानंद तिवारी

राजद नेता शिवानंद तिवारी ने कटाक्ष करते हुए कहा कि पीएम मोदी ने नीतीश से उधार चुकता किया...

खास बातें

  1. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर आरजेडी ने हमला बोला
  2. फेसबुक पर बाकायदा एक पोस्ट लिखकर नीतीश पर साधा निशाना
  3. मोदी कैबिनेट में हुए फेरबदल में जेडीयू को जगह नहीं दी गई
पटना: मोदी कैबिनेट में जेडीयू को जगह नहीं मिलने पर राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला. फेसबुक पर बाकायदा उन्होंने एक पोस्ट भी लिखी.  

शिवानंद ने लिखा, "माया मिली न राम, यह कहावत नीतीश कुमार पर ख़ूब जमती है. आज मंत्रिमंडल विस्तार में उनकी पार्टी को जगह नहीं मिली. इसके पहले प्रधानमंत्री बाढ़ निरीक्षण के लिए आए थे. चर्चा थी कि पहले पटना आएंगे. मुख्यमंत्री आवास में जूठन गिराएंगे. तब पीएम और सीएम बाढ़ निरीक्षण के लिए उड़ान भरेंगे. ख़बर छपी थी कि नीतीश कुमार ने पीएम के पसंद का गुजराती व्यंजन बनाने के लिए बढ़िया गुजराती रसोइया भी बुला लिया था लेकिन शायद पीएम नरेंद्र मोदी उस घर में पैर नहीं रखना चाहते थे, जिस घर में भोजन के लिए तमाम भाजपा नेताओं को न्योता दिया गया था. सिर्फ़ उनकी वजह सभी का न्योता लौटा लिया गया था. यह भाजपा नेतृत्व का सामूहिक अपमान था. इस अपमान का कारण वे स्वयं थे. मोदी जी को जानने वाले कहते हैं, वे अपमान नहीं भूलते हैं."

यह भी पढ़ें: शिवानंद तिवारी ने साधा नीतीश पर निशाना, कहा - पीएम मोदी की बैठक में करेंगे बोलने का इंतजार

उन्होंने आगे लिखा, "बाढ़ निरीक्षण के बाद पांच सौ करोड़ रुपये की फ़ौरी सहायता की घोषणा पीएम द्वारा की गई. निरीक्षण करके उन्होंने जान लिया होगा कि इसके पूर्व ऐसे मौकों पर पूर्व के प्रधानमंत्री ने कितनी राशि फ़ौरी सहायता के तौर पर घोषित की थी. इसके पूर्व 2008 कुशहा तटबंध टूटने से कोशी क्षेत्र के आठ जिलों में भारी तबाही मची थी. तब उस समय के रेलमंत्री लालू यादव, प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी जी को निरीक्षण के लिए लेकर आए थे.
मनमोहन सिंह जी ने एक हजार करोड़ रुपये और सवा लाख टन अनाज की फ़ौरी सहायता की घोषणा निरीक्षण के तत्काल बाद किया था. इस बार की त्रासदी 2008 की तुलना में कहीं ज़्यादा गंभीर और व्यापक है. 19 जिले गंभीर रूप से प्रभावित हैं. नीतीश सरकार के मुताबिक़ एक करोड़ सत्तर लाख की आबादी प्रभावित है. पांच सौ से ज़्यादा मौतें अब तक हो चुकी हैं. लेकिन फ़ौरी सहयता के रूप में मिली राशि ऊंट के मुंह में ज़ीरा के बराबर भी नहीं है."

VIDEO : नीतीश अवसरवादी राजनीति कर रहे हैं : शिवानंद तिवारी


राजद के उपाध्यक्ष ने कहा, "आज नीतीश कुमार को पुन: भोज का निमंत्रण देकर वापस लेने का निर्णय याद आया होगा. नीतीश जी लोगों की छोटी-छोटी बातों को भी भूलते नहीं हैं. जो लोग नरेंद्र भाई मोदी को जानते हैं, बताते हैं कि वे उधार नहीं रखते हैं. सूद समेत लौटाते हैं. मुझे लगता है कि अपनी अतिचतुराई के दंभ में भविष्य का सही आकलन नीतीश नहीं कर पाए अब उनकी उलटी गिनती शुरू हो चुकी है."


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement