बिहार में NPR अपडेट करने की तिथि घोषित करना कैसे डिप्टी CM सुशील मोदी को पड़ा महंगा?

बिहार में जनता दल यूनाइटेड के मंत्री डिप्टी सीएम सुशील मोदी की बातों से इत्तेफाक नहीं रखते हैं.

बिहार में NPR अपडेट करने की तिथि घोषित करना कैसे डिप्टी CM सुशील मोदी को पड़ा महंगा?

सुशील मोदी (फाइल फोटो)

पटना:

बिहार में जनता दल यूनाइटेड के मंत्री डिप्टी सीएम सुशील मोदी की बातों से इत्तेफाक नहीं रखते हैं. शनिवार को उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि बिहार में एनपीआर का काम 15 मई से 28 मई के बीच चलेगा. इसपर उद्योग मंत्री और जनता दल यूनाइटेड के वरिष्ठ नेता श्याम रजक ने कहा कि इसका फ़ैसला किस कैबिनेट में हुआ?

श्याम रजक ने सुशील मोदी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुझे उनकी घोषणा से कोई नाराज़गी नहीं हैं, लेकिन इस संबंध में किस कैबिनेट में फ़ैसला हुआ है, मुझे नहीं मालूम. श्याम रजक ने मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ऐसी घोषणा तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी को करनी चाहिए, लेकिन सुशील मोदी जी ने कैसे ये घोषणा की, मेरी समझ से बाहर है.

निश्चित रूप से श्याम रजक की ये प्रतिक्रिया सुशील मोदी को रास नहीं आयेगा. हालांकि सरकारी अधिकारियों का कहना है कि श्याम रजक ने आवश्यक आपत्ति ज़ाहिर की है. हालांकि अपने संवाददाता सम्मेलन में NPR के विषय में सवालों का जवाब देते हुए सुशील मोदी ने कहा कि जो लोग इस आधार पर विरोध कर रहे हैं कि, इस बार अधिक सवाल पूछे जा रहे हैं, तो सभी सवालों का जवाब देना बाध्यता नहीं हैं. इस गणना के दौरान कोई दस्तावेज या प्रमाण पत्र नहीं लेना है. 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com