NDTV Khabar

सृजन घोटाले में पूछताछ की प्रक्रिया तेज़ होगी, सबूत जुटाने का काम पूरा

सीबीआई सूत्रों का कहना हैं कि क़रीब एक महीने से उनकी जाँच में जिसके दौरान पूरा ध्यान साक्ष्यों को जुटाने पर केंद्रित था उसमें बहुत हद तक जाँच टीम कामयाब रही हैं.

16 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
सृजन घोटाले में पूछताछ की प्रक्रिया तेज़ होगी, सबूत जुटाने का काम पूरा
पटना: क़रीब दो महीने की जाँच के बाद सीबीआई अब सृजन घोटाले में इस मामले से सम्बंधित अहम लोगों से पूछताछ को तैयारी कर रही हैं. इसमें अधिकांश भागलपुर में पदस्थापित रहे पूर्व ज़िलाधिकारी हैं. सीबीआई सूत्रों का कहना हैं कि क़रीब एक महीने से उनकी जाँच में जिसके दौरान पूरा ध्यान साक्ष्यों को जुटाने पर केंद्रित था उसमें बहुत हद तक जाँच टीम कामयाब रही हैं. इस जाँच के दौरान ये भी साफ़ हो गया है कि आख़िर कौन कौन से अधिकारी किस किस स्तर पर या लापरवाही या मिलीभगत से पैसे का ग़बन किया है, लेकिन कई ज़िलाधिकारियों की भी भूमिका भी संदिग्ध रही है.
 
यह भी पढ़ें : शिवानंद तिवारी बोले - नीतीश कुमार को थी सृजन घोटाले की जानकारी, गंगा में खड़े होकर बोलेंगे तो भी नहीं मानूंगा

वहीं, इस मामले के मुख्य आरोपी सृजन के सचिव प्रिया या उनके पति अमित कुमार या उनके सहयोगी भाजपा नेता विपिन शर्मा की गिरफ़्तारी ना होने पर सीबीआई का कहना है कि फ़रार रहकर इन्होंने अपने निर्दोष होने की सम्भावना को नकार दिया है. उनका दावा है कि जल्द इन लोगों की भी गिरफ़्तारी की जाएगी.

यह भी पढ़ें : सृजन घोटाला: क्‍या अधिकारियों के कारण मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को झेलनी पड़ रही आलोचना?
 
सृजन घोटाले में क़रीब पचीस लोग फ़िलहाल गिरफ़्तारी के बाद जेल में बंद हैं. कुछ लोगों को रिमांड पर लेकर जाँच एजेन्सी ने पूछताछ की है, लेकिन कई निचले स्तर के अधिकारी भी अभी गिरफ़्त से बाहर है. ये पूरा मामला एक हज़ार करोड़  से अधिक का है. अगस्त महीने में इस मामले के उजागर होने के बाद शुरू में ज़िला पुलिस और आर्थिक अपराध इकाई ने जांच और गिरफ़्तारी का काम किया था, लेकिन बाद में जांच सीबीआई को दे दी गई गई.  
VIDEO: सृजन घोटाले पर लालू यादव

इस मामले में कई राजनेताओं के इस घोटाले के मुख्य आरोपी मनोरमा देवी और उनके परिवार से संबंधों के फ़ोटो आए जिनमे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, शाहनवाज़ हूसेन प्रमुख हैं. राजद का आरोप है कि जब तक पटना हाई कोर्ट या सुप्रीम कोर्ट इस मामले की जांच की मॉनिटरिंग नहीं करता असल घोटालेबाज़ नहीं पकड़े जाएँगे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement