NDTV Khabar

तेजस्वी यादव बोले- 'नीतीश कुमार और सुशील मोदी दुर्जन हैं, उनका विसर्जन करना है'

तेजस्वी रविवार को भागलपुर के सैंडिस मैदान में सृजन घोटाले के सिलसिले में आयोजित रैली में बोल रहे थे.

3.1K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
तेजस्वी यादव बोले- 'नीतीश कुमार और सुशील मोदी दुर्जन हैं, उनका विसर्जन करना है'

बिहार के भागलपुर में आयोजित 'सृजन के दुर्जनों का विसर्जन' रैली में आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमले किए.

खास बातें

  1. आरजेडी की भागलपुर में 'सृजन के दुर्जनों का विसर्जन' रैली
  2. तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार और सुशील मोदी पर जमकर कोसा
  3. भाषण के दौरान सत्ता जाने का दर्द छलका
पटना: बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने सीबीआई से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी पर सृजन घोटाले में मामला दर्ज कर पुछताछ करने की मांग की है. तेजस्वी रविवार को भागलपुर के सैंडिस मैदान में सृजन घोटाले के सिलसिले में आयोजित रैली में बोल रहे थे. बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के भाषण में निश्चित रूप से सरकार जाने का दर्द झलका. 'सृजन के दुर्जनों का विसर्जन' नाम की इस रैली में तेजस्वी ने लोगों से पूछा कि दुर्जन कौन कौन हैं? फिर कहा कि नीतीश कुमार और सुशील मोदी वह दुर्जन हैं, जिनका विसर्जन करना हैं. 

ये भी पढ़ें: तेजस्वी यादव ने भेजी ऐसी चिट्ठी कि दुविधा में पड़ गए नीतीश कुमार, आखिर क्या है माजरा

तेजस्वी यादव के भाषण में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह पूर्व मंत्री, शहनवाज हुसैन और संसद निशिकांत दुबे भी निशाने पर रहे. इन नेताओं पर आरजेडी नेता ने आरोप लगाया कि इन्होंने गरीबों का पैसा लुटवाया है. तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर भड़ास निकलते हुए कहा कि तेजस्वी बहाना था सृजन का पाप चुकाना था. नीतीश जी ने घुटने टेक दिए हैं. बहुजन समाज को धोखा देने का काम किया है. जब तक हम लोग सरकार में साथ थे तेजस्वी के अनुसार उन्हें घोटाला करने में नहीं बन रहा था.

ये भी पढ़ें: तेजस्वी यादव ने किया पलटवार, 'नीतीश बताएं वो खुद किसके डार्लिंग हैं'

रैली के मंच से तेजस्वी यादव यादव ने नीतीश कुमार से कई सवाल किये. उन्होंने कहा कि सृजन घोटाला हुआ तो आपकी अंतरात्मा क्यों नहीं जागा? आपकी नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा क्यों नहीं दिया? आगे तेजस्वी ने कहा कि 25 जुलाई 2013 को जब संजीत कुमार ने पत्र लिखा वह सरे मामले को दबा दिया गया. इसके बाद रिजर्व बैंक ने बिहार सरकार को पत्र लिखकर जांच करने को कहा. मुख्यमंत्री ने कोई कार्रवाई नहीं की. तत्कालीन जिलाधिकारी ने जांच का आदेश दिया, लेकिन जांच रिपोर्ट क्यों दबाया गया? 

ये भी पढ़ें: मैं 'कृष्ण' और मेरा भाई तेजस्वी अर्जुन : तेजप्रताप यादव 

तेजस्वी ने कहा कि 2006 से चल रहे इस घोटाले में मुख्यमंत्री ने 10 साल तक जांच के आदेश क्यों नहीं दिए. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तो सीबीआई जांच के आदेश नहीं दिए तो रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को इसकी पहल करनी चाहिए.

आरजेडी नेता ने आरोप लगाया कि उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी सजृन घोटाले के आरोपियों को बचा रहे हैं. इसमें उनकी की भी भागीदारी है. उनके परिवार के लोग लिप्त हैं. तेजस्वी यादव ने सुशील मोदी के चचेरी बहन रेखा मोदी का नाम लेते हुए कहा कि उनका इस घोटोले से डायरेक्ट संलिप्तता है.

तेजस्वी यादव ने अपने आप को लालू यादव का बेटा नहीं, धर्म पुत्र बताया. कहा- 'हमलोगों को फंसाया जा रहा है. पूरे परिवार पर केस मुकदमा किया गया है. सबको हमलोग के पीछे लगा दिया गया. मैं सीबीआई से कहता हूं कि निश्पक्ष होकर जांच करिए पूरा साथ देंगे. 

VIDEO:हर जगह नीतीश की वादाख़िलाफ़ी का ज़िक्र

उन्होंने कहा कि सब लोगों ने मिलकर मेरे पिता (लालू प्रसाद यादव) को फंसाया है. नीतीश कुमार अमित साह के साथ मिलकर पुरे परिवार को फंसा रहे हैं. तेजस्वी ने कहा कि सृजन में जमा अगर महिलाओं के पैसे नहीं दिए गए तब जरूरत पड़ी तब उनका पैसा वापस दिलाने के लिए मुख्यमंत्री निवास का घेराव करने से भी पीछे नहीं हटेंगे.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement