NDTV Khabar

बिहार: हवाई जहाज और ट्रेन पार्सल से की जा रही है गांजे की तस्करी, STF ने पकड़ा 130 किलो गांजा

बिहार में पूर्ण शराब बंदी लागू होने के बाद से गांजा जैसे नशीले पदार्थ की तस्करी काफी जोर पकड़ रही है.

97 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार: हवाई जहाज और ट्रेन पार्सल से की जा रही है गांजे की तस्करी, STF ने पकड़ा 130 किलो गांजा

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. हवाई जहाज और ट्रेन पार्सल से की जा रही है गांजे की तस्करी
  2. STF ने पकड़ा 130 किलो गांजा
  3. बिहार में गांजा जैसे नशीले पदार्थ की तस्करी काफी जोर पकड़ रही है
पटना: बिहार में पूर्ण शराब बंदी लागू होने के बाद से गांजा जैसे नशीले पदार्थ की तस्करी काफी जोर पकड़ रही है. माफिया अब तस्करी के लिए नए-नए तरीके इजाद कर रहे हैं. यह पहली बार है कि तस्करों ने अब गांजा तस्करी के लिए हवाई जहाज का सहारा लिया है. अगरतला से पार्सल के जरिए विमान से कोलकाता भेजा गया और फिर वहां से ट्रेन से पटना के लिए बुक किया गया. दो बोरी पैकेट में 130 गांजा पटना एसटीएफ ने पकड़ा है. पटना जंक्शन के पार्सल में दो पैकेट बोरियां आई थी, जब इसे खोल कर देखा गया तो उसमें एक में 80 एवं दूसरे में 50 किलोग्राम गांजा मिला.

यह भी पढ़ें: हैदराबाद : चॉकलेटों में गांजा भरकर ऑनलाइन बेचने वाला डॉक्टर गिरफ्तार

इस बार गांजा की तस्करी का बिल्कुल ही नया तरीका सामने आया है. 130 किलो गांजा की इस खेप को त्रिपुरा से हाजीपुर के लिए बुक किया गया था. लेकिन, ये जानकर आश्चर्य होगा कि ये खेप सीधे ट्रेन से पटना नहीं आया, बल्कि प्लेन के जरिए कोलकाता फिर वहां से पूरी खेप पटना जंक्शन पार्सल में पहुंची. यहां से हाजीपुर के उस पते पर भेजा गया, जिस पर गांजा की इस खेप को बुक किया गया था. लेकिन वो पूरा पता फर्जी निकला. 

यह भी पढ़ें:  मुंगेर जेल में जब पुलिस ने छापा मारा, जानें कैदियों के पास क्या-क्या मिला...

पहचान पत्र के रूप में पोस्टमैन को उस नाम का आधार कार्ड नहीं दिखाया गया, जिस नाम से उसे बुक किया गया था. इस कारण हाजीपुर से पूरी खेप वापस पटना आ गई. पार्सल के अधिकारी इस पूरी खेप को वापस रिटर्न कर ही रहे थे की इसी बीच इकोनोमिक ऑफेंस यूनिट और एसटीएफ को गांजा के इस खेप की जानकारी मिली. फिर देर शाम दोनों टीम ने रेल पुलिस की मदद से पार्सल में छापेमारी की और वहां से गांजा की खेप को बरामद किया. 

VIDEO: हर जिंदगी है जरूरी: पंजाब ड्रग्स के गुमनाम पीड़ित
अब इस पूरे मामले की जांच की जांच रही है. त्रिपुरा में इसे किसने बुक किया था, हाजीपुर में इसे कौन रिसीव करने वाला था? इसका पता लगाया जा रहा है. एसटीएफ के अधिकारी की मानें तो आगे की जांच में सब कुछ साफ हो जाएगा. हालांकि, एसटीएफ गांजा तस्कर को रंगेहाथ पकड़ना चाहती थी, मगर इसकी भनक तस्करों को लग गया था. अब उनकी टीम पूरे मामले की छानबीन में जुटी है. जब्त गांजा की खेप की कीमत 50 लाख से भी अधिक बताई जा रही है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement