NDTV Khabar

मुजफ्फरपुर शेल्‍टर होम रेप कांड: बिहार सरकार को फिर सुप्रीम कोर्ट की फटकार- आप क्या कर रहे हैं, यह शर्मनाक और अमानवीय है

सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार से कहा- आपने वक्त पर एफआईआर क्यों नहीं दर्ज की? जांच कैसे कर रहे हैं?

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुजफ्फरपुर शेल्‍टर होम रेप कांड: बिहार सरकार को फिर सुप्रीम कोर्ट की फटकार- आप क्या कर रहे हैं, यह शर्मनाक और अमानवीय है

सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. सुप्रीम कोर्ट ने कहा- यह बेहद शर्मनाक और अमानवीय
  2. आप अभी तक क्या कर रहे हैं- सुप्रीम कोर्ट
  3. सुप्रीम कोर्ट ने पहले भी लगाई थी फटकार.
नई दिल्ली:

मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेपकांड (Muzaffarpur Shelter Home Case) पर सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर बिहार सरकार को फटकार लगाई है. इस केस की सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट बिहार के मुख्य सचिव पहुंचे थे. कोर्ट ने मुख्य सचिव से कहा, 'आपने वक्त पर एफआईआर क्यों नहीं दर्ज की? जांच कैसे कर रहे हैं? देरी से एफआईआर दर्ज करने का मतलब क्या रह जाता है? रिपोर्ट कहती है कि शेल्टर होम में बच्चों के साथ कुकर्म हुआ लेकिन पुलिस ने धारा-377 के तहत मुकदमा दर्ज क्यों नहीं किया? ये बड़ा अमानवीय है. बेहद शर्मनाक है. आपने एफआईआर में हल्की धाराएं जोड़ी हैं. आईपीसी की धारा-377 के तहत भी मुकदमा होना चाहिए. 110 में से 17 शेल्टर होम में रेप की घटनाएं हुईं. क्या सरकार की नजर में वो देश के बच्चे नहीं?'

सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई कल बुधवार दोपहर दो बजे तक के लिए टाल दी है. कोर्ट ने बिहार सरकार को 24 घंटे में एफआईआर में बदलाव करने के लिए कहा है. इसके साथ ही मुख्य सचिव को भी आदेश दिए हैं कि वे सुनवाई के दौरान कोर्ट में ही मौजूद रहें. बिहार सरकार को फटकार लगाते हुए, 'मई में रिपोर्ट आई और आपने अब तक इस पर क्या एक्शन लिया? आपका रवैया ऐसा है कि अगर किसी बच्चे के साथ दुराचार होता है तो आप जुवेनाइल बोर्ड के खिलाफ ही कार्रवाई कर देंगे?' सुप्रीम कोर्ट की फटकार पर बिहार सरकार की ओर से कहा गया कि वो अपनी गलतियां सुधारेंगे. इसके साथ ही बिहार सरकार की ओर से कहा गया, 'सभी शेल्टर होम एक ही अथॉरिटी के अंतर्गत हों इसके लिए सरकार कदम उठा रही है. बिहार सरकार को जैसे ही शिकायत मिली, तुरंत कार्रवाई शुरू की.'


मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप कांड : जानें कहां, कब और क्या-क्या हुआ, यहां है पूरा घटनाक्रम​

सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि आपने इस पर लिखा है कि आपको इस मामले में गहरी चिंता है. इस गहरी चिंता का मतलब क्या है? हमें समझाएं. बॉयज चिल्ड्रन होम मोतिहारी में हुई घटनाओं के मामले में क्या एक्शन लिया? चिल्ड्रन होम्स में बच्चों को शारीरिक और गाली गलौज से पीड़ित किया जाता था. बच्चे इस कदर पीड़ित और भयाक्रांत हैं कि कुछ बोलते भी डरते हैं.'

मुजफ्फपुर शेल्टर होम: कोर्ट के आदेश के बाद बिहार पुलिस ने जब्त की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा की संपत्ति

न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने कहा, 'अगर हम पता लगता है कि आईपीसी की धारा 377 और पॉस्को एक्ट के तहत जुर्म हुए हैं और आपने उन्हें एफआईआर में दर्ज नहीं किया है तो हम सरकार के खिलाफ आदेश जारी करेंगे.'

पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के गायब होने की बात कह क्या बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को गुमराह किया ?

बता दें, सुप्रीम कोर्ट ने पहले भी इस मामले में बिहार सरकार को फटकार लगाई थी. मामले की मुख्य आरोपी मंजू वर्मा के नाकाम रहने पर फटकारा था. सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि ये चौंकाने वाली बात है कि मंजू वर्मा को तलाश नहीं किया जा सका. कोर्ट ने कहा कि कमाल है, किसी को ये नहीं पता कि पूर्व मंत्री कहां हैं. बिहार सरकार को इस मामले में जवाब देना होगा. हालांकि, उसके कुछ दिन बाद आरोपी मंजू वर्मा ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया था. 

टिप्पणियां

एससी ने बिहार सरकार को लगाई फटकार

अन्य संबंधित खबरें: 
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेपकांड: कोर्ट ने पूर्व मंत्री मंजू वर्मा को 1 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा 
मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड: ब्रजेश ठाकुर की करीबी सहयोगी मधु को CBI ने गिरफ्तार किया
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड : पूर्व मंत्री मंजू वर्मा ने किया सरेंडर, सुप्रीम कोर्ट ने गिरफ्तारी न होने पर लगाई थी बिहार सरकार को फटकार
मुजफ्फपुर शेल्टर होम: कोर्ट के आदेश के बाद बिहार पुलिस ने जब्त की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा की संपत्ति
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेपकांड: फरार चल रहीं बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा को JDU ने किया निलंबित
मुजफ्फरपुर कांड: बिहार सरकार ने कहा- हमें नहीं पता मंजू वर्मा कहां हैं, तो सुप्रीम कोर्ट बोला- अजीब बात है, ऑल इज़ नॉट वेल
मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड पर सुप्रीम कोर्ट बोला- 'बेहद डरावना और भयावह... बिहार सरकार कर क्या रही है?'
तेजस्वी का सीएम नीतीश पर हमला, कहा- बालिका गृहकांड के आरोपियों को बचाने के लिए हुआ एसपी का तबादला


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement