NDTV Khabar

'जो PM की चमड़ी उधेड़ने की धमकी दे सकता है, उसे बाहरी लोगों से क्या खतरा?'

राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेज प्रताप यादव के मारने की साजिश रचने के दावे का उपमुख्यमंत्री और भाजपा नेता सुशील कुमार ने खंडन किया है

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'जो PM की चमड़ी उधेड़ने की धमकी दे सकता है, उसे बाहरी लोगों से क्या खतरा?'

तेज प्रताप यादव (फाइल फोटो)

पटना: राष्ट्रीय जनता दल के नेता और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव के मारने की साजिश के दावे का उपमुख्यमंत्री और भाजपा नेता सुशील कुमार ने न सिर्फ खंडन किया है, बल्कि जवाबी हमला भी बोला है. मंगलवार को ईद के मौके पर तेज प्रताप ने दावा किया था कि महुआ में एक हथियार से लैस शख्स ने उनका हाथ पकड़ लिया था. इस घटना पर उन्होंने कहा था कि बीजेपी और आरएसएस उन्हें मारने की साजिश रच रही है. इसके जवाब में डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि जो पीएम की चमड़ी उधेड़ने की धमकी दे सकता है, उसे बाहरी लोगों से क्या खतरा हो सकता है?

हथियार से लैस शख्स ने मेरा हाथ पकड़ा, BJP मुझे मारने की साजिश रच रही है: तेज प्रताप यादव

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने गुरुवार की देर रात एक ट्वीट के जरिये तेज प्रताप के आरोपों का खंडन किया और लिखा- राजद की आपराधिक संस्कृति में पले लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेज प्रताप यादव अपनी पार्टी में उपेक्षा के शिकार हैं, इसलिए सुर्खियों में आकर सहानुभूति पाने के लिए अपनी असुरक्षा का नाटक कर रहे हैं. उन्हें भाजपा पर आरोप लगाने से पहले अपने आस-पास के लोगों की सही पहचान करनी चाहिए.' उन्होंने इस पोस्ट के नीचे एक फोटो शेयर किया है, जिस पर लिखा है- 'जो पीएम की चमड़ी उधेड़ने की धमकी दे सकता है, उसे बाहरी लोगों से क्या खतरा हो सकता है?' इससे पहले घटना को लेकर तेज प्रताप यादव ने कहा था कि 'महुआ जाने के क्रम में एक हथियार से लैस एक शख्स ने मेरा हाथ पकड़ा और उसे छोड़ने का नाम ही नहीं ले रहा था. यह आरएसएस और बीजेपी द्वारा मुझे मारने की साजिश है. विधायक और मंत्री यहां सुरक्षित नहीं है, तो फिर आम आदमी कैसे सुरक्षित रह सकता है?'

टिप्पणियां
सावन के महीने में भगवान शंकर के रूप में सामने आये लालू के बेटे तेज प्रताप यादव 

हालांकि, जिस शख्स ने तेज प्रताप यादव का हाथ पकड़ा, उसकी पहचना राज्य के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के चालक के रूप में हुई है, जो महुआ में स्वागत के लिए खड़े लोगों के बीच शामिल था. हालांकि, बाद में उस हथियारबंद शख्स पुलिस के हवाले कर दिया गया. आपको बता दें कि लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव महुआ विधानसभा से विधायक हैं. यही वजह है कि वह अक्सर यहां अपने क्षेत्र में भ्रमण करने आते रहते हैं. बुधवार को भी वह बकरीद के मौके पर विधानसभा क्षेत्र में भ्रमण करने पहुंचे थे, जिस वक्त यह मामला सामने आया. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
 Share
(यह भी पढ़ें)... मायावती-जोगी ने दिलचस्प बनाया चुनाव...

Advertisement