NDTV Khabar

सुशील मोदी का एक और तंज, बोले- राजद को चुनाव चिह्न लालटेन नहीं, एलईडी बल्ब रखना चाहिए

सुशील मोदी ने कहा कि बिहार के हर गांव हर टोले में बिजली होगी. अब किसी को लालटेन की जरूरत नहीं होगी. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सुशील मोदी का एक और तंज, बोले- राजद को चुनाव चिह्न लालटेन नहीं, एलईडी बल्ब रखना चाहिए

सुशील कुमार मोदी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. सुशील मोदी ने इस बार लालू यादव के पार्टी चिन्ह को लेकर तंज कसा है.
  2. मोदी ने कहा कि लालटेन के बदले एलईडी बल्ब चिन्ह रखना चाहिए.
  3. बिहार में अब लालटेन की जरूरत नहीं होगी.
पटना: बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, राजद और उसके सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पर हमला बोलने का एक भी मौका खोना नहीं चाहते हैं. इस बार सुशील मोदी ने राजद के चुनाव चिन्ह को लेकर हमला बोलते हुए कहा कि अब 2018 तक बिहार लालटेन मुक्त होगा. बिहार के हर गांव हर टोले में बिजली होगी. अब किसी को लालटेन की जरूरत नहीं होगी. 

सुशील मोदी ने कहा कि राजद को चुनाव चिह्न लालटेन को बदलकर एलईडी बल्ब रख लेना चाहिए. सुशील मोदी अपने आवास पर आम लोगों की समस्या सुनने के दौरान कहा कि लालू प्रसाद को 15 साल बिहार में राज करने का मौका मिला, मगर उन्होंने पूरे बिहार को अंधेरे में रखा. उन्हें लगता था कि लोग हमेशा लालटेन के साथ रहेंगे, मगर अब बिहार से लालटेन युग खत्म हो चुका है. लालू प्रसाद को अपनी पार्टी का चुनाव चिन्ह बदल कर एलईडी बल्ब कर लेना चाहिए.

यह भी पढ़ें - सुशील मोदी ने राजद सुप्रीमो पर कसा तंज, बोले - लालू जेल यात्री हैं, कभी नहीं सुधरेंगे 

आगे उन्होंने कहा कि 'लालू प्रसाद जेल में रहें या बाहर कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है. 2010 में तो लालू प्रसाद बाहर ही थे. 1995 में 170 सीट जीतने वाली उनकी पार्टी 24 सीट पर सिमट गई थी. 2015 में अगर नीतीश कुमार साथ नहीं होते, तो 80 सीट जीतना संभव नहीं था. लालू प्रसाद जातीय कार्ड पहले भी खेल चुके हैं, मगर अब कोई कार्ड खेल लें, बिहार की जनता झांसे में नहीं आने वाली है.'

यह भी पढ़ें - यह भी पढ़ें : तेजस्वी ने विरोधियों पर फिर साधा निशाना, 'शेर सिर्फ बोलेगा नहीं दहाड़ेगा'

टिप्पणियां
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद आदतन अपराधी और जेल यात्री हैं, जो कभी सुधरने वाले नहीं हैं. चारा घोटाले में एक बार सजा होने के बाद भी हजार करोड़ की बेनामी सम्पति एकत्र कर लिए. किसी को बरी करना या सजा देना कोर्ट का काम है. उन्होंने कहा कि कोर्ट जाति देख कर सजा नहीं देता. जातीय कार्ड काफी पुराना हो चुका है और अब बिहार काफी आगे निकल चुका है. तथ्यों व सबूतों के आधार पर चारा घोटाले के दूसरे मामले में दोषी करार दिए गए लालू प्रसाद को कड़ी सजा ही मिलने की संभावना है. 

VIDEO: सुशील मोदी के घर में घुसकर उन्हें मारूंगा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement