NDTV Khabar

सहकारिता मंडल में आरक्षण की बात कहते ही सुशील मोदी को करना पड़ा विरोध का सामना

सुशील मोदी ने कहा था पंचायतों, निकायों में सभी स्थानों पर आरक्षण का प्रावधान है तो पैक्स अध्यक्षों के चुनाव में आरक्षण का प्रावधान क्यों नहीं होना चाहिए

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सहकारिता मंडल में आरक्षण की बात कहते ही सुशील मोदी को करना पड़ा विरोध का सामना

सहकारिता मंडल के कार्यक्रम में सुशील मोदी के अलावा सीएम नीतीश कुमार भी मौजूद थे.

पटना: बिहार में सहकारिता मंडल अब भी उन गिने चुने संगठनों में एक है जिनके चुनाव में आरक्षण अभी लागू नहीं है. बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आज जैसे ही सहकारिता के प्रावधानों में आरक्षण की घोषणा की वैसे ही कार्यक्रम में आए हुए सदस्यों ने खड़े होकर इसका पुरजोर विरोध किया. इससे कुछ देर के लिए सुशील मोदी को अपना भाषण रोकना पड़ा. कार्यक्रम में नीतीश भी मौजूद थे.

पटना के ज्ञान भवन में अखिल भारतीय सहकारिता सप्ताह के अवसर पर सहकारी उन्मुखीकरण कार्यशाला के उद्घाटन कार्यक्रम में उस समय कुछ देर के लिए अफरातफरी मच गई जब सुशील मोदी ने पैक्स में आरक्षण देने की बात कही. लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया. कई लोगों ने खड़े होकर विरोध जताना शुरू कर दिया. इसके बाद कुछ लोगों ने मामले को शांत कराया जिसके बाद मोदी ने पुनः अपना भाषण शुरू किया.

यह भी पढ़ें : महिला आरक्षण की मांग पर जारी आंदोलन के बीच नगालैंड के मुख्यमंत्री जेलियांग का इस्तीफा

क्या कहा सुशील मोदी ने
सुशील मोदी ने कहा कि ''पहले सहकारिता विभाग कुछ लोगों के पॉकेट में रहता था. हमारी सरकार आई तो इसमें महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण  दिया गया. बिहार सरकार ने यह भी तय किया कि जिस तरह पंचायत चुनाव में एकल पदों पर आरक्षण का प्रावधान है, आज मुखिया, प्रमुख, परिषद के चेयरमैन, नगर निगम के मेयर इन सभी स्थानों पर आरक्षण का प्रावधान है तो पैक्स अध्यक्षों के चुनाव में आरक्षण का प्रावधान क्यों नहीं होना चाहिए. आगे आने वाले दिनों में और जब 2019 में चुनाव होगा तो देश के अंदर उस चुनाव में ......'' बस इसके बाद हंगामा शुरू हो गया. मोदी कहना चाह रहे थे कि 2019 के चुनाव में सहकारिता में भी आरक्षण का प्रावधान हो.

टिप्पणियां
VIDEO : आरक्षण पर राहुल से सवाल

हालांकि मोदी ने विरोध के बाद लोगों से कहा कि सरकार कोई भी गैरकानूनी काम नहीं करेगी. जो संविधान में प्रावधान है, नियमों के अनुसार किया जाएगा. अब तो ऑनलाइन भी लोग सदस्य बन सकते हैं. मोदी ने कहा कि एमएलए कोऑपरेटिव में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी पाई गई है. नेताओं ने अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर एक से अधिक फ्लैट लेने में गड़बड़ी की है और उसका व्यवसायिक इस्तेमाल भी कर रहे हैं. जो भी लोग इसमें गड़बड़ी की है उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.  इस मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी मौजूद थे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement