NDTV Khabar

सुशील मोदी का तेजस्वी पर पलटवार, कहा- इंकम टैक्स और चुनाव आयोग के पास है एक-एक पाई का हिसाब

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव भ्रष्टाचार और बेनामी संपत्ति के मुद्दे को लेकर शुक्रवार को आमने-सामने आ गए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सुशील मोदी का तेजस्वी पर पलटवार, कहा- इंकम टैक्स और चुनाव आयोग के पास है एक-एक पाई का हिसाब

तेजस्वी यादव ने सुशील मोदी पर भाई की कंपनियों के द्वारा काले धन को सफेद करने का आरोप लगाया

प: बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव भ्रष्टाचार और बेनामी संपत्ति के मुद्दे को लेकर शुक्रवार को आमने-सामने आ गए. राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता व पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी  पर अपने भाई की कंपनियों के जरिए काले धन को सफेद करवाने का आरोप लगाया तो सुनील मोदी ने भी सफाई देते हुए तेजस्वी पर 26 वर्ष की उम्र में 26 बेनामी संपत्तियों के मालिक होने का आरोप लगाते हुए उनसे जवाब मांगा.
 
तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया था कि सुशील मोदी ने भ्रष्टाचार कर खुद करोड़ों की बेनामी संपत्ति अर्जित कर ली है और वे अपना काला धन अपने भाई आर.के. मोदी की कंपनियों के जरिए सफेद करवाते हैं. तेजस्वी का यह बयान उस समय आया जब सुशील मोदी लगातार लालू प्रसाद के परिवार के खिलाफ बेनामी संपत्ति को लेकर लगातार खुलासा करते रहे हैं.
 
तेजस्वी ने कहा, "सुशील मोदी के बड़े भाई आर.के. मोदी बड़े बिल्डर हैं. देश के कई शहरों में आर.के. मोदी की कंपनी मॉल, अपार्टमेंट और मकान बनाने का काम कर रही है. सुमो अपने भाई के व्यवसाय को पूरी तरह अलग बताते हैं, लेकिन हकीकत यह है कि आर.के. मोदी की बेनामी कंपनियों के जरिए ही सुमो अपनी काली कमाई को सफेद करते रहे हैं."
  
उन्होंने कहा कि वर्ष 2005 में सुशील मोदी पहली बार बिहार के उपमुख्यमंत्री बने थे और वित्तमंत्री का जिम्मा भी उन्होंने ही संभाला था. वित्तमंत्री रहते सुशील मोदी ने बिहार के खजाने की हिफाजत नहीं की. उपमुख्यमंत्री पर गलत तरीके से फ्लैट खरीदने का भी आरोप लगाया गया. 
 
फ्लैट खरीदने संबंधी राजद के आरोपों का करारा जवाब देते हुए उपमुख्यमंत्री सुमो ने कहा, "मैंने तो आईसीआईसीआई बैंक से 10 लाख रुपये कर्ज लेकर और शेष राशि चेक के जरिए देकर फ्लैट खरीदा, जिसकी सारी जानकारी इनकम टैक्स रिटर्न और चुनाव आयोग को देता रहा हूं."
 
उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद बताएं कि राबड़ी देवी 18 फ्लैट की मालिक कैसे बन गईं? तेजस्वी यादव 26 वर्ष की उम्र में 26 बेनामी संपत्ति के मालिक कैसे बन गए? उन्होंने कहा कि अगर लालू प्रसाद चाहें तो मैं उनके घर पर आकर अपनी सभी आय और उसके स्रोतों के बारे में उन्हें बता सकता हूं. मैं 25 वर्षों से विधायक व मंत्री रहा हूं. मेरे पास अपनी आय और खर्च के एक-एक पैसे का हिसाब है. मगर क्या लालू प्रसाद, तेजस्वी और राबड़ी देवी अपनी हजार करोड़ की बेनामी संपत्ति के बारे में बता सकते हैं?

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement