CAA का फायदा गिनाने मीडिया के सामने आए सुशील मोदी, जातीय जनगणना कराने की मांग की

बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी नागरिकता संशोधन क़ानून के बहाने लंबे वक्त बाद पटना में मीडिया वालों के सामने आए.

CAA का फायदा गिनाने मीडिया के सामने आए सुशील मोदी, जातीय जनगणना कराने की मांग की

सुशील मोदी. (फाइल फोटो)

पटना:

बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी नागरिकता संशोधन क़ानून के बहाने लंबे वक्त बाद पटना में मीडिया वालों के सामने आए. हालांकि पार्टी आलाकमान के निर्देशों के मुताबिक उन्हें नागरिकता क़ानून की अच्छी बातों को मीडिया के सामने रखना था, लेकिन उन्होंने प्रेस वार्ता विरोधी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) की जनगणना के साथ जातीय जनगणना की मांग का समर्थन कर दिया. सुशील मोदी ने कहा कि केंद्र सरकर से आग्रह करेंगे कि जातीय जनगणना भी साथ-साथ कराई जाए. उन्होंने कहा कि इस संबंध में बिहार विधानसभा का एक प्रस्ताव भी केंद्र को भेजा गया है.

सुशील मोदी ने संवाददाता सम्मेलन में जहां एक ओर केरल और पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्रियों के एनपीआर ना कराने के फ़ैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए चुनौती दी कि संविधान में ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है जिससे राज्य इस वैधानिक काम में अड़ंगा डाल सकते हैं. वहीं जब उनसे यह पूछा गया कि ख़ुद असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल, जो BJP से ही आते हैं, उन्होंने भी कहा है कि नए नागरिकता क़ानून को वे अपने राज्य में लागू नहीं करेंगे, तो सुशील मोदी ने बचाव में कहा कि सभी को सर्वोच्च न्यायालय में जाने की आज़ादी है. इस संबंध में जो सर्वोच्च न्यायालय का फ़ैसला आएगा वो सबको सर्वमान्य होगा.

मोदी ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा पूरे देश में 2024 तक एनआरसी की प्रक्रिया को पूरा करने वाले बयान पर कहा कि किसी विषय पर अंतिम बयान प्रधानमंत्री का होता है. जब उन्होंने इस मामले में स्थिति साफ़ कर दी है, तो कौन क्या कहता है उसका कोई मतलब नहीं है. हालांकि सुशील मोदी से जब ये पूछा गया कि न केवल शाह बल्कि कई अन्य केंद्रीय मंत्रियों ने इस संबंध में झारखंड चुनाव के समय बयान दिये थे, तब मोदी चुप हो गए.

आपको बता दें कि सुशील मोदी क़रीब छह महीने बाद पटना में किसी संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे. जबसे लोकसभा चुनाव का परिणाम आया और उसके बाद मुज़फ़्फ़रपुर में बच्चों की मौत हुई, उन्होंने मीडिया से सार्वजनिक रूप से बात करना बंद कर दिया था. इसके बाद पटना में जल जमाव के बाद उन्होंने कन्नी काटना शुरू कर दिया था और मीडिया के कैमरे से बचते थे, लेकिन शनिवार को पार्टी के निर्देश के बाद उन्होंने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया. 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com