NDTV Khabar

लालू यादव के परिवार की संपत्ति पर सुशील मोदी ने कहा - नीतीशजी चुप्पी तोड़िए...

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लालू यादव के परिवार की संपत्ति पर सुशील मोदी ने कहा - नीतीशजी चुप्पी तोड़िए...

बीजेपी नेता सुशील मोदी ने नीतीश कुमार से लालू यादव के परिवार की संपत्ति पर चुप्पी तोड़ने के लिए कहा है.

खास बातें

  1. लालू यादव या उनके दोनों मंत्री बेटे किसी आरोप का जवाब नहीं दे रहे
  2. मोदी ने कहा, न तो वे किसी कंपनी में निदेशक न ही उनकी हिस्सेदारी
  3. नीतीश अपनी चुप्पी तोड़ेंगे जरूर, लेकिन समय आने पर
पटना: बिहार में बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी बनाम राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष लालू यादव व उनके परिवार के बीच एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. दोनों के परिवारों की बेनामी सम्पत्ति उजागर करने का सिलसिला चल रहा है. लालू यादव या उनके दोनों मंत्री बेटे किसी आरोप का जवाब नहीं दे रहे हैं. मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अपनी चुप्पी तोड़ने का अनुरोध किया है.  

सुशील मोदी ने एक संवाददाता सम्मेलन में पिछले सोमवार को अपने ऊपर राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा द्वारा लगाए गए आरोपों पर कहा कि उनके पचास से अधिक सम्बंधी व्यापार करते हैं लेकिन न वे किसी कंपनी में निदेशक हैं, न उनकी कोई  हिस्सेदारी है और न ही वे सहयोगी हैं. मोदी ने यह भी दावा किया कि उनके जिस भाई की कंपनी के सम्बंध में आरोप लगाए गए हैं वह 20 वर्ष पूर्व लालू  राबड़ी  के जंगल राज से त्रस्त होकर बिहार से पलायन कर चुके हैं. मोदी ने राजद को चुनौती देते हुए कहा कि लालू यादव ऐसे उनके सम्बंधियों पर दबाब डालने के हथकंडे पहले अपना चुके हैं और वे उनकी गीदड़ भभकी से डरने वाले नहीं हैं. मोदी ने साफ किया कि जिन कंपनियों के बारे में आरोप लगाया गया है उनका जवाब उस कंपनी के मालिक ही दे सकते हैं लेकिन में पूरे समय राजनीति करता हूं. न कोई व्यवसाय करता हूं न ठेकेदारी.  

टिप्पणियां
मोदी ने पिछले दो हफ्ते में कई संवाददाता सम्मलेन कर लालू यादव के परिवार की उन सम्पत्तियों का खुलासा किया है जिनका मालिकाना हक किसी ऐसी कंपनी के माध्यम से हुआ है जिसमें पहले कोई निदेशक होते थे लेकिन बाद में शेयर लेकर अचानक या तो राबड़ी देवी या उनके दोनों बेटे तेजस्वी या तेजप्रताप यादव, नहीं तो उनकी सात बेटियों में से किसी को निदेशक बनाया गया. मोदी का आरोप है कि लालू यादव या नीतीश मंत्रिमंडल में उनके सहयोगी तेजस्वी इस बात की सफाई नहीं दे रहे हैं कि आखिर सम्पति या कंपनी उन्होंने किस आधार  पर बनाई.  लेकिन लालू यादव पहले ही इस मुद्दे पर बोल चुके हैं कि सारी जानकारी सार्वजनिक है इसलिए मोदी खुलासा नहीं बल्कि कागजात पर राजनीति कर रहे हैं.  

इस बीच सम्पत्ति विवाद पर रविवार को उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के उस बयान पर कि मोदी पचास प्रतिशत पर उनकी सम्पति ले लें, मोदी ने कहा कि एक प्रतिशत पर भी अगर तेजस्वी  सम्पत्ति देने के लिए तैयार हो जाएं तो उनके पास उतने लाख नहीं हैं, क्योंकि उनकी सम्पत्ति अरबो में है. लेकिन इस बीच पूरे मामले में नीतीश कुमार को घसीटकर मोदी ने जनता दल की मुश्किलें जरूर बढ़ा दी हैं. लेकिन जनता दल यूनाइटेड के नेताओं का कहना है कि नीतीश इस मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ेंगे जरूर लेकिन अपने समय पर, सम्पति के खेल को समझने के बाद.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement