NDTV Khabar

बिहार के 6 हजार गांवों को मिलेगी फ्री ब्रॉड बैंड सर्विस, जानें कब से शुरू होगी इंटरनेट सेवा?

दूरसंचार मंत्रालय की ओर से दिल्ली के विज्ञान भवन में संचार मंत्री मनोज सिन्हा की अध्यक्षता में आयोजित देश के सभी राज्यों के सूचना प्रौद्योगिक मंत्रियों की बैठक हुई.

223 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार के 6 हजार गांवों को मिलेगी फ्री ब्रॉड बैंड सर्विस, जानें कब से शुरू होगी इंटरनेट सेवा?

दिल्ली के विज्ञान भवन में बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी

खास बातें

  1. दिल्ली के विज्ञान भवन में में हुई सूचना प्रौद्योगिक मंत्रियों की बैठक
  2. बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी भी मौजूद रहे
  3. 75% सस्ती दरों 4 बड़ी कंपनियां वोडाफोन, एयरटेल, जियो, BSNL देंगी छूट
नई दिल्ली: दूरसंचार मंत्रालय की ओर से दिल्ली के विज्ञान भवन में संचार मंत्री मनोज सिन्हा की अध्यक्षता में आयोजित देश के सभी राज्यों के सूचना प्रौद्योगिक मंत्रियों की बैठक हुई. जहां बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी भी मौजूद रहे. इस बैठक में यह तय हुआ कि देश की एक लाख ग्राम पंचायतों; जिनमें बिहार की 6105 भी शामिल है, के ग्रामिणों को शुरू के 6 महीने तक डिजिटल इंडिया के अंतर्गत भारत नेट द्वारा मुफ्त ब्रॉड बैंड इंटरनेट की सेवा दी जाएगी. उसके बाद देश की दूरसंचार क्षेत्र की चार बड़ी कंपनियां जिनमें वोडाफोन, एयरटेल, जियो और बीएसएनएल शामिल है. ये कंपनियां 75 प्रतिशत सस्ती दरों पर ग्रामीणों को ब्रॉड बैंड सेवा उपलब्ध कराएगी. पंचायतों के अन्तर्गत 5-6 वाई-फाई व हॉटस्पॉट स्थापित किए जाएंगे ताकि बसावटों के ग्रामीणों को इंटरनेट की सुविधा मिल सके. उपर्युक्त दी गई जानकारी बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने अपने ट्विटर पर भी दी है.

यह भी पढे़ं: डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने लालू एंड फैमिली पर साधा निशाना, शराब माफिया से पैसे लेने का लगाया आरोप

बैठक में यह भी चर्चा हुई कि भारत सरकार शीघ्र ही निविदा निकाल कर निजी क्षेत्र के सर्विस प्रोवाइडर को बिहार में दूसरे चरण का ऑप्टिकल फाइवर बिछाने का काम सौंपेगी. दूसरे चरण के काम को पूरा करने के लिए भारत सरकार 30,920 करोड़ रुपए की स्वीकृति प्रदान की है. बिहार में जिन ग्राम पंचायतों तक ऑप्टिकल फाइवर बिछा दिया गया है वहां पंचायत सरकार भवन या कॉमन सर्विस सेंटर में ब्रॉड बैंड उपकरण स्थापित किए जाएंगे तथा उसकी देखभाल व सुरक्षा की जिम्मेदारी उन्हें ही दी जाएगी.

यह भी पढ़ें: टि्वटर पर फिर भिड़े सुशील मोदी और तेजस्वी यादव, एक-दूसरे पर जमकर साधा निशाना

डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के अन्तर्गत भारत नेट द्वारा देश की सभी ग्राम पंचायतों को 2019 तक ब्रॉड बैंड इंटरनेट सेवा से जोड़ कर स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि के साथ ही सरकार द्वारा निर्गत किए जाने वाले सभी प्रकार के प्रमाण पत्रों व सेवाओं को ऑनलाइन उपलब्ध कराया जाएगा. ब्रॉड बैंड से देश के ग्रामीण घर बैठे तमाम तरह की सरकारी सेवाओं के साथ ही मनोरंजन का भी लाभ उठा सकेंगे. सुशील मोदी ने ट्वीट के जरिए यह भी बताया कि दिल्ली में आयोजित भारत नेट कांफ्रेंस में सम्मिलत हुआ, जहां बिहार को इंटरनेट की सुविधाओं के बारें में जानकारी दी.

VIDEO: सुशील मोदी के काफिले पर हुआ पथराव


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement