NDTV Khabar

तेजस्वी यादव को लेकर बोले तेजप्रताप- भाई को बनाऊंगा सीएम, मैं कृष्ण की तरह पथ-प्रदर्शक

लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने कहा कि उन्हें छोटे भाई तेजस्वी यादव  (Tejashwi Yadav) के जनता दरबार में आने से बेहद खुशी होगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तेजस्वी यादव को लेकर बोले तेजप्रताप- भाई को बनाऊंगा सीएम, मैं कृष्ण की तरह पथ-प्रदर्शक

तेजप्रताप यादव (फाइल फोटो)

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के पटना स्थित प्रदेश मुख्यलय पर लगातार दूसरे दिन जनता दरबार लगाने के बाद लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने कहा कि उन्हें छोटे भाई तेजस्वी यादव  (Tejashwi Yadav) के जनता दरबार में आने से बेहद खुशी होगी. गौरतलब है कि विधायक और पूर्व मंत्री तेज प्रताप ने सोमवार को कहा था कि यदि पार्टी की कमान उन्हें सौंपी गई तो वह पीछे नहीं हटेंगे. लेकिन उनके राजद की कमान संभालने की संभावना को लेकर अन्य नेताओं में खलबली संबंधी सवालों के जवाब नहीं दिए. 

लालू यादव के चेंबर में तेजप्रताप ने लगाया जनता दरबार, पार्टी नेतृत्व संभालने के बारे पूछे जाने पर कही यह बात...

उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि पार्टी में कुछ आरएसएस जैसी सोच वाले लोग हैं लेकिन मुझसे व्यक्तिगत रूप से मिलने के बाद उनके विचार भी बदलेंगे. मुझे नहीं पता है कि वह क्या कह रहे हैं और क्यों कह रहे हैं. चुनाव आ रहे हैं और कई लोग बेकार में टिकट की चिंता करते हुए बोलने लगते हैं. 


तेज प्रताप ने यह भी कहा कि वह तेजस्वी यादव को बिहार का अगला मुख्यमंत्री बनाने के लिए काम करने को लेकर प्रतिबद्ध हैं.    उन्होंने कहा, ‘मैंने सार्वजनिक तौर पर अपनी प्रतिबद्धता बहुत पहले जताई थी. मैंने महाभारत का प्रसंग भी दिया था, मैंने बार-बार कहा भी है कि तेजस्वी अर्जुन हैं और मैं कृष्ण की भूमिका निभाऊंगा. मैं उसका पथ प्रदर्शन करूंगा.' 

फिर सियासत में सक्रिय हुए तेजप्रताप यादव, लगाएंगे जनता दरबार

टिप्पणियां

उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ लोग भाइयों के बीच दीवार खड़ी करना चाहते हैं. यह पूछने पर कि क्या वह चाहते हैं कि तेजस्वी जनता दरबार में शामिल हों, उन्होंने कहा क्यों नहीं?    

वहीं, मंगलवार को तेज प्रताप यादव ने दलित बस्ती का दौरा किया. उन्होंने ट्वीट कर कहा- 'दलित बस्ती कमला नेहरू नगर का हाल जानने जब मैं पहुंचा तो देखकर दंग रह गया. विकास पुरुष के राज में यहां न तो बिजली है ना पानी. स्कूल, अस्पताल, सड़क जैसे प्राथमिक सुविधाएं भी यहां नदारद है. एक बुजुर्ग बीमार महिला का इलाज कराने के लिए मुझे स्वयं निजी अस्पताल का सहारा लेना पड़ा.'  (इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement