NDTV Khabar

भाई के समर्थन में उतरे तेज प्रताप, कहा- तेजस्वी का नेतृत्व पसंद नहीं तो RJD छोड़ दें कार्यकर्ता

लोकसभा चुनाव 2019 में बिहार में 20 सीटों पर राजद ने चुनाव लड़ा था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भाई के समर्थन में उतरे तेज प्रताप, कहा- तेजस्वी का नेतृत्व पसंद नहीं तो RJD छोड़ दें कार्यकर्ता

तेजस्वी यादव के नेता प्रतिपक्ष के पद से इस्तीफे मांग उठ रही है.

पटना:

बिहार में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की करारी हार के बाद पार्टी में अंदरूनी कलह शुरु हो गए हैं. इसी बीच तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) के नेता प्रतिपक्ष के पद से इस्तीफे मांग भी उठ रही है. वहीं इस मसले पर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप (Tej Pratap Yadav) यादव ने अपने भाई तेजस्वी यादव का समर्थन किया है. तेज प्रताप ने मंगलवार को पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि अगर उन्हें उनके छोटे भाई का नेतृत्व पसंद नहीं है तो वे पार्टी छोड़ दें.  तेज प्रताप यादव ने कहा, ‘आखिर वह (तेजस्वी) क्यों (विपक्ष के नेता पद से) इस्तीफा दें? अगर किसी को उनका नेतृत्व पसंद नहीं है तो वह राजद या महागठबंधन छोड़ सकता है.'उन्होंने कहा, ‘मैं अपने छोटे भाई के साथ हूं जैसे कृष्ण अपने भाई के साथ थे और हमेशा उसके साथ खड़ा रहूंगा.'

तेजस्वी के नेतृत्व में बिहार में RJD की करारी हार के बाद अब बड़े भाई तेज प्रताप करेंगे यह काम...


तेज प्रताप (Tej Pratap Yadav) ने कहा कि अगर लालू प्रसाद जेल से बाहर होते तो राजद को इन सबका सामना नहीं करना पड़ता. तेज प्रताप हालांकि राजद की मंगलवार हुई बैठक में हिस्सा नहीं ले सके. चुनाव में मिली हार पर चर्चा के लिये पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर यह बैठक हुई थी. तेज प्रताप ने कहा कि उन्होंने बैठक में शामिल होने को लेकर अपनी असमर्थता के बारे में पार्टी नेताओं को सूचित कर दिया था.

बता दें मुजफ्फरपुर जिले से पार्टी के एक विधायक ने तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) से बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष पद से इस्तीफा मांगा है. महेश्वर प्रसाद यादव (Maheshwar Prasad Yadav) ने कहा था कि परिवारवाद के कारण राजद की यह दुर्गति हुई है. 

लालू प्रसाद की अनुपस्‍थ‍िति या तेज प्रताप का विद्रोह, आखिर कैसे डूबी बिहार में महागठबंधन की नैया?

टिप्पणियां

इस लोकसभा चुनाव में कांग्रेस-राजद-आरएलएसपी-हम और वीआईपी ने महागठबंधन बनाकर चुनाव लड़ा था. बिहार की 40 में 39 सीटों पर BJP-JDU-LJP गठबंधन का कब्जा रहा वहीं, महागठंधन के हिस्से एक सीट आई. महागठबंधन से कांग्रेस (Congress) ने किशनगंज की सीट जीती. किशनगंज में कांग्रेस उम्मीदवार डॉक्टर मोहम्मद जावेद ने जेडीयू (JDU) के सैयद महमूद अशरफ को शिकस्त देकर जीती. उन्होंने 34466 वोट से महमूद अशरफ को मात दी. बिहार में राजद ने 20, कांग्रेस ने 9, उपेंद्र कुशवाहा की RLSP ने 5, जीतनराम मांझी की हम ने 3 और सन ऑफ मल्लाह मुकेश साहनी की VIP ने तीन सीटों पर चुनाव लड़ा था. वहीं, JDU ने 17, BJP 17 और LJP ने 6 सीटों पर चुनाव लड़ा था. (इनपुट-भाषा)

वीडियो: एनडीए की जीत पीएम के काम की वजह से हुई - चिराग पासवान



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement