तेजस्वी का नीतीश कुमार पर निशाना, सुशासन का प्रशासन कर्तव्यनिष्ठा को सरेंडर कर चुका

बिहार में बढ़ते अपराधों को लेकर बरसे तेजस्वी यादव, कहा- अफसर सत्तारूढ़ नेताओं की गाड़ियों में घूम रहे हैं और अपराधी सरकारी गाड़ियों में

तेजस्वी का नीतीश कुमार पर निशाना, सुशासन का प्रशासन कर्तव्यनिष्ठा को सरेंडर कर चुका

तेजस्वी यादव ने बिहार में बढ़ते अपराधों को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेरा है.

खास बातें

  • कहा- बिहार वासियों का हर दिन अपराध और अपराधियों के बीच सहमते गुजर रहा
  • सत्तारूढ़ दल के नेता और कार्यकर्ता शराब की तस्करी कर रहे
  • ब्यूरो चीफ नीतीश कुमार अपनी मीडिया की एडिटिंग के भरोसे बेफिक्र
नई दिल्ली:

बिहार में विपक्ष और राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार को अपनी एक फेसबुक पोस्ट में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बिहार सरकार को निशाना बनाया. उन्होंने बिहार में बढ़ते अपराधों के लिए सत्तारूढ़ दलों को जिम्मेदार ठहराया और नीतीश कुमार पर इस सबको अनदेखा करने का आरोप लगाया. तेजस्वी यादव ने कहा है कि 'बिहार में सरकार और पुलिस ने कानून व्यवस्था पर पूरी तरह से अपना इकबाल गंवा दिया है. बिहार में औसतन 50 हत्याएं हो रही हैं. पुलिस का एक मात्र कार्य सत्तारूढ़ दलों की घृणित राजनीति के प्यादे के रूप में अपनी उपयोगिता सिद्ध करना रह गया है. सुशासन का प्रशासन सत्ता के हनक और सनक के सामने अपनी कर्तव्यनिष्ठा को सरेंडर कर चुका है. अफसर सत्तारूढ़ नेताओं की गाड़ियों में घूम रहे हैं और अपराधी सरकारी गाड़ियों में.'

तेजस्वी ने सवाल किया है कि 'मुख्यमंत्री पुलिस कर्मियों के हत्यारों को, बलात्कारियों को और शराब माफिया को अपने घर के अंदर तक का एंट्री पास देते हैं. ऐसे में पुलिस बल का क्या मनोबल रह जाएगा?'

आरजेडी नेता ने कहा है कि 'बिहार वासियों का हर दिन अपराध और अपराधियों के बीच सहमते गुजर रहा है. सत्तारूढ़ दल के नेता-कार्यकर्ता पुलिस का स्टीकर चिपकाकर पार्टी का झंडा लगाकर शराब की तस्करी कर रहे हैं. सत्तारूढ़ दल के मंत्री मुजफ्फरपुर बालिका गृह बलात्कार कांड में लिप्त हैं. सत्तारूढ़ दल के नेता 30 बच्चों को अपनी कार से कुचल देता है. लूटपाट और छेड़छाड़ का विरोध करने पर व्यापारियों और महिलाओं को गोलियों से छलनी किया जा रहा है.'

क्या तेजस्वी यादव अब बिहार में महागठबंधन के नेता नहीं रहे?

उन्होंने कहा है कि 'ब्यूरो चीफ नीतीश कुमार अपनी मीडिया की एडिटिंग के भरोसे बेफिक्र हैं कि जनता को सच्चाई का पता नहीं चलेगा. अगर मुख्यमंत्री से अपराध काबू नहीं हो पा रहा और कुछ नैतिकता बची है तो तुरंत अपने पद से इस्तीफा देकर सूबे की जनता को अपनी सिद्धांतविहीन राजनीति और सत्ता संरक्षण में पनपते अपराध से निजात दिलाएं.'

बिहार: तेजस्वी यादव ने महागठबंधन के नेताओं को आखिरकार अपना मोबाइल नंबर दिया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : बिखराव की ओर आरजेडी