कोरोना संकट : तेजस्वी का बिहार में सुरक्षा उपकरणों की कमी को लेकर केंद्र पर निशाना, बोले- डॉक्टरों का सरकार के सामने गिड़गिड़ाना डराने वाला  

तेजस्वी ने कहा, "यदि डॉक्टर खतरे में हैं तो मरीज भी खतरे में हैं. डॉक्टरों और चिकित्सा क्षेत्र में काम करने वालों को सेफ्टी किट से लैस करना सबसे बड़ा आभार होगा."

कोरोना संकट : तेजस्वी का बिहार में सुरक्षा उपकरणों की कमी को लेकर केंद्र पर निशाना, बोले- डॉक्टरों का सरकार के सामने गिड़गिड़ाना डराने वाला  

तेजस्वी यादव ने पीएम मोदी से आवश्यक चिकित्सा उपकरणओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने का आग्रह किया (फाइल फोटो)

पटना:

बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कोरोनावायरस (Coronavirus) संकट से लड़ने के वास्ते बिहार के पीपीई, एन-95 मास्क और वेंटिलेटर की आपूर्ति सुनिश्चित करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से एक बार फिर अपील की है. उन्होंने केंद्र सरकार पर बिहार की जरूरी चिकित्सा उपकरणों की मांग को नजरअदाज करने का आरोप लगाया है. तेजस्वी ने बयान में कहा, "मैं अनुरोध करता हूं कि पीएम मोदी बिहार के लिए निजी सुरक्षा उपकरण (PPE), एन-95 मास्क और वेंटिलेटर की आपूर्ति सुनिश्चित करें."

उन्होंने आगे कहा, "यदि डॉक्टर खतरे में हैं तो मरीज भी खतरे में है. डॉक्टरों और चिकित्सा क्षेत्र में काम करने वालों को सेफ्टी किट से लैस करना सबसे बड़ा आभार होगा. पीपीई और मास्क जैसे सुरक्षा उपकरणों के लिए डॉक्टरों का सरकार के सामने विनती करना डराने वाला है."

तेजस्वी ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार से अपील की है कि यदि केंद्र सरकारी हमारी मांगों को नजरअंदाज कर रही है तो हमें जल्द से जल्द उपकरणों की खरीद के अन्य विकल्पों पर विचार करना चाहिए. डॉक्टरों समेत स्वास्थ्य कर्मियों के जीवन को जानबूझकर खतरे में नहीं डाला जाना चाहिए. 

इस बात को ध्यान में रखते हुए कि केंद्र सरकार ने पीपीई, एन 95 मास्क और वेंटिलेटर जैसी आवश्यक चिकित्सा आपूर्ति की बिहार की मांग की अनदेखी की है. नीतीश कुमार और बिहार सरकार अब इस जरूरत को कैसे पूरा करेगी? डॉक्टरों और अन्य स्वास्थ्य योद्धाओं को सुरक्षा किट नहीं देना एक आपराधिक लापरवाही है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,374 हो गई है जबकि इस वायरस से अब तक 77 लोगों की मौत हो चुकी है. पिछले 24 घंटे में 9 लोगों की मौत हुई है, वहीं 472 नए मामले सामने आए हैं. हालांकि, थोड़ी राहत वाली बात यह है कि इसके संक्रमण से कुल 267 लोग ठीक हो चुके हैं. 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com