बीजेपी के साथ अपनी 'अंडरस्टेंडिंग' के आरोप पर तेजस्वी यादव ने दी यह सफाई

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने भाजपा के साथ किसी तरह के अलिखित समझौते से इनकार किया, कहा- दो महीने से दिल्ली में इलाज करा रहे थे

बीजेपी के साथ अपनी 'अंडरस्टेंडिंग' के आरोप पर तेजस्वी यादव ने दी यह सफाई

तेजस्वी यादव ने कहा है कि बीजेपी से उनका कोई अलिखित समझौता नहीं है, वे दिल्ली में दो माह से इलाज करा रहे थे.

खास बातें

  • कहा- उनकी अनुपस्थिति को साजिश के तहत गलत ढंग से प्रचारित किया गया
  • किसी परिस्थिति में मनुवादी या साम्प्रदायिक शक्ति से समझौता नहीं कर सकता
  • तेजस्वी ने नहीं बताया कि उन्हें क्या बीमारी, किस अस्पताल में हुआ इलाज
पटना:

बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार को भाजपा के साथ किसी तरह के अलिखित समझौते से इनकार किया. अपनी पार्टी और विपक्ष द्वारा इस मुद्दे पर निशाना बनाए जाने पर तेजस्वी यादव ने कहा कि उनके दो महीने लंबे दिल्ली प्रवास को इतना तूल दिया जा रहा है, लेकिन सच्चाई यह है कि वे अपनी बीमारी के कारण दो महीने पटना से बाहर रहे. तेजस्वी अपने पटना स्थित आवास पर पार्टी के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के बैठक में बोल रहे थे. उनके अनुसार उनकी इस अनुपस्थिति को साजिश के तहत गलत ढंग से प्रचारित किया गया. लोगों को गलत बातें बताकर भ्रमित किया गया.

तेजस्वी ने कहा कि वे लालू प्रसाद के पुत्र हैं. लालू जी ने कभी भी अपने विचार और सिद्धांत से समझौता नहीं किया. उन्होंने अपने शासन काल में मनुवादियों एवं साम्प्रदायिक शक्तियों से लोहा लिया. यहां तक कि राज्य का वातावरण खराब करने वाले आरएसएस, बजरंग दल, विश्व हिंदू परिषद के नेताओं को बिहार आने की अनुमति नहीं दी. उन्होंने कहा कि मेरे शरीर में उनका ही रक्त है. मैं भी किसी परिस्थिति में मनुवादी या साम्प्रदायिक शक्ति, संगठन से कोई समझौता नहीं कर सकता.

हालांकि तेजस्वी ने यह नहीं बताया कि आखिर उन्हें क्या बीमारी थी और उनका इलाज किस हॉस्पिटल में चल रहा था. तेजस्वी ने इस बात पर भी कोई सफाई नहीं दी कि अगर उनकी कोई अंडरस्टेंडिंग नहीं है तब कैसे उनके मामले में कोर्ट की तारीख दो-दो महीने बाद लगती है और जांच एजेंसी भी कभी आपत्ति नहीं करती. दरअसल जब तेजस्वी यादव विधानसभा सत्र से गायब रहे तब उनकी पार्टी के अधिकांश नेताओं, खासकर मुस्लिम विधायकों ने इस बात की आशंका जाहिर की थी कि वे अपने केस के मैनेजमेंट में लगे हैं.

तेजस्वी ने जेडीयू के नए नारे पर कहा- आत्मविश्वास इतना घट गया कि ‘ठीके तो है‘ पर आ गए          

हालांकि तेजस्वी ने नीतीश कुमार के बारे में कहा कि जिसने जनादेश का अपमान किया है, उनके साथ मेरा कोई समझौता नही हो सकता है. राजद के वरिष्ठ नेता भी मानते हैं कि ऐसा कहकर वे भाजपा को फायदा पहुंचा रहे हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : क्या तेजस्वी होंगे बिहार में महागठबंधन का चेहरा