NDTV Khabar

'सृजन घोटाला नीतीश जी के संरक्षण में हुआ है, CBI ने अब तक क्यों नहीं दर्ज की FIR'

सृजन घोटाले के मुद्दे पर भागलपुर में रविवार को राष्ट्रीय जनता दल रैली करने जा रही है.

1137 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
'सृजन घोटाला नीतीश जी के संरक्षण में हुआ है, CBI ने अब तक क्यों नहीं दर्ज की FIR'

तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए कहा कि सृजन घोटाले का ही कमाल है जो आज नीतीश दुबारा भाजपा संग बैठे हैं...

खास बातें

  1. रविवार को भागलपुर में आरजेडी रैली करने जा रही है
  2. रैली से पहले तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर निशाना साधा
  3. तेजस्वी ने कई ट्वीट करके सवालों की झड़ी लगा दी
पटना: भागलपुर में रविवार को आरजेडी रैली करने जा रही है. सृजन घोटाले के इसमें छाये रहने के पूरे आसार हैं. रैली से पहले विपक्ष के नेता व पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा. तेजस्वी ने कई ट्वीट करके सवालों की झड़ी लगा दी. तेज्स्वी ने सवाल किया, "सृजन घोटाला सीधे तौर पर नीतीश जी के संरक्षण मे हुआ है फिर CBI ने अब तक FIR क्यों नहीं की? NDA मे जाने की क्या यही डील थी?"

उन्होंने लिखा, सृजन घोटाले का ही कमाल है जो आज नीतीश दुबारा भाजपा संग बैठे है. अपने काले पाप छुपाने के लिए ये लोग एक हुए है.
 
एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, नीतीश और सुशील मोदी पर सृजन घोटाले में CBI तुरंत दफा 120B और 420 का मुकदमा दर्ज कर अपनी विश्वसनीयता प्रमाणित करे. 

 
CBI सृजन घोटाले के मुख्य संरक्षकों नीतीश कुमार और सुशील मोदी के विरुद्ध FIR दर्ज करने के बजाय उन्हें ही संरक्षण प्रदान करने में जुटी है.

उधर, लालू ने NDTV से बात करते हुए आरोप लगाया कि सृजन घोटाले में सीधे तौर पर सीएम और डिप्टी सीएम शामिल हैं. उन्होंने कहा कि बहुत सारे सबूत छिपाए जा रहे हैं. सृजन घोटाले में सीधे नीतीश और सुशील मोदी शामिल हैं. लालू ने कहा कि मामला सामने आनेवाला था, तभी जयश्री ठाकुर को निकाल दिया. सीबीआई को मामले की अच्छे से जांच करनी चाहिए. लालू ने सवाल कि जांच का नीतीश ने क्‍या संज्ञान लिया. 1000 करोड़ का मामला है.

VIDEO : सृजन घोटाले में बहुत सारे साक्ष्य छिपाए जा रहे हैं: लालू यादव

मजेदार बात यह है कि चाहे वे लालू हों या तेजस्वी, किसी ने नीतीश कुमार या सुशील मोदी द्वारा इस मामले के घोटालेबाज़ों के साथ मिलीभगत के कोई सबूत आज तक नहीं दिए हैं. तेजस्वी ने 'सृजन के दुर्जन का विसर्जन' नाम से पूरे राज्य में अभियान चलने की घोषणा की है. पिछली बार तेजस्वी यादव जब भागलपुर गए थे तब उन्हें इस मुद्दे पर सभा करने को अनुमति नहीं मिली थी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement