NDTV Khabar

पूर्व सीएम के अंतिम संस्कार में नहीं चली एक भी बंदूक, तो तेजस्वी यादव बोले- शर्मनाक है न? 

तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा, पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र के अंतिम संस्कार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मौजूदगी में 21 बंदूकों की सलामी दी जा रही थी, लेकिन उनमें से एक भी बंदूक नहीं चल सकी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पूर्व सीएम के अंतिम संस्कार में नहीं चली एक भी बंदूक, तो तेजस्वी यादव बोले- शर्मनाक है न? 

तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पूर्व सीएम के अंतिम संस्कार में नहीं चल पाई थी एक भी गोली
  2. अब आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर साधा निशाना
  3. वीडियो साझा कर कहा, यह शर्मनाक है
नई दिल्ली :

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र के अंतिम संस्कार में सलामी के दौरान एक भी बंदूक से गोली न चलने के बाद नीतीश कुमार सरकार विपक्षी दलों के निशाने पर है. अब आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर निशाना साधा है. तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा, 'बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र के अंतिम संस्कार के राजकीय सम्मान में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मौजूदगी में 21 बंदूकों की सलामी दी जा रही थी, लेकिन उनमें से एक भी बंदूक नहीं चल सकी. नीतीश जी 14 वर्ष से गृहमंत्री भी हैं, लेकिन इसपर मुंह नहीं खोलेंगे. शर्मनाक है ना?'. 

दरअसल, कानून-व्यवस्था के मोर्चे पर लगातार आलोचना का सामना कर रही बिहार पुलिस के लिए बुधवार को उस समय शर्मनाक स्थिति पैदा हो गई जब राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. जगन्नाथ मिश्र की अंत्येष्टि में सलामी के दौरान एक भी राइफल से गोली नहीं चल पाई. डॉ. जगन्नाथ मिश्र का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ होना था. इसकी घोषणा भी खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने की थी, लेकिन अंत्येष्टि के दौरान पुलिस की एक भी राइफल काम न करने से हास्यास्पद स्थिति पैदा हो गई.   


टिप्पणियां

पूर्व सीएम के अंतिम संस्कार में सलामी के दौरान फुस्स हुईं बंदूकें, नहीं चल पाई एक भी गोली, देखें- VIDEO

बता दें कि सुपौल में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. जगन्नाथ मिश्र की अंत्येष्टि के दौरान खुद उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डे और विधान सभा अध्यक्ष विजय चौधरी मौजूद थे. लेकिन इसके बावजूद ज़िला पुलिस की तैयारी का आलम ये था कि एक भी बंदूक़ से फ़ायरिंग नहीं हो पाई. अमूमन दस राइफ़ल से फ़ायर किया जाता है, लेकिन एक ने भी काम नहीं किया.  इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद जिला पुलिस ने अब जांच के आदेश दिये हैं. ज़िले के पुलिस अधीक्षक एम के चौधरी का कहना है कि हो सकता है कि मौसम के कारण ये हथियार काम नहीं किये हों, लेकिन पूरे मामले की जांच जारी है. 
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement