NDTV Khabar

नीतीश-शाह डिनर पर तेजस्वी का तंज : अब गिरिराज के साथ मिलकर साम्प्रदायिकता से लड़ेंगे 'चाचा'

बिहार में गुरुवार को सीएम नीतीश कुमार और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की मुलाकात ने राजद नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को हमला बोलने का एक और मौका दे दिया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नीतीश-शाह डिनर पर तेजस्वी का तंज : अब गिरिराज के साथ मिलकर साम्प्रदायिकता से लड़ेंगे 'चाचा'

गुरुवार को पटना में मिले नीतीश कुमार और अमित शाह

पटना: बिहार में गुरुवार को सीएम नीतीश कुमार और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की मुलाकात ने राजद नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को हमला बोलने का एक और मौका दे दिया. पिछले कई महीनों से बिहार एनडीए में चल रही खींचतान के बीच सीएम नीतीश कुमार और अमित शाह के बीच मुलाकात के बाद लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने तंज कसा और कहा कि अब नीतीश कुमार अपने पसंदीदा साथी गिरिराज सिंह के साथ मिलकर सांप्रदायिकता के खिलाफ लड़ाई तेज कर देंगे. 

लार टपकाते रहिए, नीतीश हमारे साथ ही रहेंगे : अमित शाह

तेजस्वी ने तंज के लहजे में ट्वीट कर कहा कि 'अमित शाह के साथ डिनर करने के बाद नीतीश कुमार ने अपने पसंदीदा साथी गिरिराज सिंह एंड कंपनी के साथ मिलकर महिलाओं के प्रति बढ़े अपराध, भ्रष्टाचार और बीते एक साल में उजागर हुए पांच हजार के घोटाले का जिक्र किए बिना सांप्रदायिकता के खिलाफ लड़ाई तेज कर दी है.' यानी तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए भारतीय जनता पार्टी और गिरिराज सिंह पर भी हमला किया.  बता दें कि बीते दिनों गिरिराज सिंह द्वारा नवादा की जेल में दंगे के आरोपी से मुलाकात और राज्य सरकार के खिलाफ बयानबाजी के से नीतीश कुमार नाराज हो गये थे. इसके अलावा नीतीश ने गिरिराज सिंह पर निशाना साधते हुए कहा था कि सामाजिक सद्भाव बिगाड़ने वाले को छोड़ेंगे नहीं. उन्होंने कहा था कि जिसको आप ताक़तवर व्यक्ति मान रहे हैं और उसको भी बोलना पड़ रहा है तो इसका मतलब है कि वो व्यक्ति सरकार के इक़बाल को निर्धारित नहीं करता बल्कि सरकार के इक़बाल की पुष्टि करता है. इस दौरान नीतीश कुमार ने यह भी माना कि गिरिराज सिंह का जेल जाकर दंगे के आरोपी से मिलना उचित नहीं है. अगर कार्रवाई से आपत्ति है तो उसको कोर्ट में चुनौती दी जा सकती है.

जानें अशोक गहलोत ने क्यों कहा- बिहार में राजद के साथ गठबंधन कांग्रेस की मजबूरी

टिप्पणियां
यही वजह है कि तेजस्वी यादव ने एक बार फिर से नीतीश कुमार की प्रतिबद्धता को लेकर तंज कसा है. इससे पहले कई मौकों पर नीतीश कुमार सांप्रदायिकता को लेकर बीजेपी को चेताते रहे हैं. चाहे भागलपुर कांड हो या समस्तीपुर कांड हो, हर बार नीतीश कुमार ने कहा था कि सामाजिक सद्भाव बिगड़ने नहीं देंगे. गुरुवार को पटना में नीतीश कुमार से मिलने के लिए अमित शाह पहुंचे, जहां अमित शाह ने ब्रेकफास्ट और डिनर साथ में किया. इस मुलाकात के बाद उन अटकलों पर विराम लग गया है, जिसमें कहा जा रहा था कि नीतीश कुमार एक बार फिर से एनडीए गठबंधन से अलग हो सकते हैं. 

VIDEO: नेशनल रिपोर्टर: नहीं टूटेगा BJP-JDU गठबंधन


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement