NDTV Khabar

तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर कसा तंज, कहा-ट्वीट करने के लिए तकनीकी ज्ञान भी होना चाहिए

तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार जी को इस बात की तकलीफ़ है कि लालू जी ट्विटर पर उनके बाद आए, लेकिन आज उनके फ़ॉलोअरों की संख्या उनसे कहीं अधिक है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर कसा तंज, कहा-ट्वीट करने के लिए तकनीकी ज्ञान भी होना चाहिए

बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव. (फाइल फोटो)

पटना: दलित, पिछड़ों का दर्द दिल और दल का संबंध है. यह कहना है बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव का. उन्होंने अपनी पार्टी के लोगों को दलितों के आंदोलन का साथ देने का निर्देश देते हुए कहा कि अगर नागपुरिया लोगों को बिहार की धरती से खदेड़ना है तो दलित-पिछड़ों को साथ लेकर चलना होगा.
 
यह भी पढ़ें : सुरक्षा में कटौती पर बरसे तेजस्वी, 'गरीब जनता ही हमारी असल प्रहरी'

तेजस्वी यादव ने अंबेडकर जयंती पर पार्टी के कार्यक्रम में कहा कि भाजपा गुरु गोलवलकर के सिद्धांत पर चलती है, इसलिए वो आने वाले समय में संविधान बदल देगी. संविधान बदलेगा तो आरक्षण ख़त्म हो जायेगा. उन्होंने इस संबंध में कहा कि भले ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दावा किया है कि आरक्षण कोई ख़त्म नहीं कर सकता, लेकिन ये बात भी उन्होंने उनके पिता लालू यादव से चुराया है. 

यह भी पढ़ें : नीतीश अगर लालू यादव के सामने घुटने भी टेके तब भी उन्हें माफ नहीं करेंगे : तेजस्वी

इस सम्मेलन में नीतीश कुमार पर तेजस्वी ने जमकर हमला बोला. पिछले दिनों नीतीश कुमार ने विपक्ष के नेता पर हमला किया था कि तेजस्वी सिर्फ बयान देते हैं और ट्वीट करते हैं. तेजस्वी ने इस पर कहा कि बयान देने के लिए दिमाग़ चाहिए और ट्वीट करने के लिए थोड़ा तकनीकी ज्ञान और मोबाइल फ़ोन चलाना भी आना चाहिए. तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार जी को इस बात की तकलीफ़ है कि लालू जी ट्विटर पर नीतीश कुमार के बाद आए, लेकिन आज उनके फ़ॉलोअरों की संख्या उनसे कहीं अधिक है.

टिप्पणियां
VIDEO : तेजस्वी यादव का गंभीर आरोप, 'मेरे खाने में जहर मिलाने की कोशिश हुई'


अपने परिवार की सुरक्षा पर हुए विवाद पर बात करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि उनके परिवार को सुरक्षा की ज़रूरत नहीं बल्कि जब तक जनता का आशीर्वाद है तब तक वही उनकी सुरक्षा करेगा. तेजस्वी ने कहा कि पहले केंद्र और नीतीश कुमार को लालू यादव से डर लगता था. अब उनसे भी डर लगने लगा है, इसलिए प्रधानमंत्री जिस दिन बिहार आए उस दिन सीबीआई अधिकारी उनकी मां से पूछताछ करने आ गई. सम्मेलन में तेजस्वी ने अपने पार्टी के विधायकों से अंबेडकर छात्रावास में पुस्तकालय के निर्माण में सहयोग करने की अपील की. वहीं पार्टी का नया नारा जय जय जय भीम, जय जय जय मंडल, जय जय जय बहुजन और जय जय जय हिंद का नारा दिया. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement