Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

तेजस्वी यादव बिहार में बेरोजगारी हटाओ यात्रा शुरू करेंगे

बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कर्पूरी जयंती पर आरजेडी के दफ्तर में आयोजित कार्यक्रम में घोषणा की

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तेजस्वी यादव बिहार में बेरोजगारी हटाओ यात्रा शुरू करेंगे

बिहार विधानसभा के विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव (फाइल फोटो).

खास बातें

  1. कहा- भारत लगातार पिछड़ रहा है, बिहार को उसका हक नहीं मिल रहा
  2. बिहार के खजाने की लूट हो रही है, बेरोजगारी का केन्द्र बन गया
  3. पिछले 15 सालों में प्रत्येक बिहारी पर 25 हज़ार का कर्ज हो गया
पटना:

'तुम मेरा साथ दो और मैं तुम्हें बेरोजगारी से मुक्ति दिलाऊंगा' के नारे के साथ बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव अगले महीने बिहार की यात्रा पर निकलेंगे. यह घोषणा ख़ुद तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को की. तेजस्वी ने अपनी पार्टी के दफ़्तर में कर्पूरी जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में ये घोषणा की. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने राजद के प्रदेश कार्यालय में भाजपा पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जो लोग उनके विचार को नहीं मानते थे, उन्हें गाली दिया करते थे वे भी आज वोट की राजनीति के लिए उन्हें अपनाने का ढोंग रच रहे हैं.

तेजस्वी ने कहा आरक्षण  की सीमा बढ़नी चाहिए. आरक्षण को बचाने और देश के लोकतंत्र को बचाने के लिए बाबा साहब के संविधान की रक्षा करनी होगी. संविधान पर हमले हो रहे हैं. संस्थाओं को खत्म किया जा रहा है. सीएए, एनआरसी लाकर गरीब, पिछड़े, दलित को यह साबित करने को कहा जा रहा है कि वे भारत के नागरिग हैं. तानाशाही बढ़ रही है. हर क्षेत्र मे भारत लगातार पिछड़ रहा है. बिहार को उसका हक नहीं मिल रहा है. त्रासदी के समय में भी केंद्र बिहार पर ध्यान नहीं दे रहा है. जबकि दूसरे प्रांतों दी गई मदद कई गुना अधिक है.

उन्होंने कहा कि लालू जी ने कोसी त्रासदी के समय केंद्र से पर्याप्त सहायता राज्य को दिलाई थी. बिहार की गरीबी के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं केंद्र की भाजपा सरकार जिमेदार है. यूपीए 1 की केंद्र सरकार के दौरान लालू जी ने बिहार को 1.54 लाख करोड़ की सहायता का पैकेज दिलाया था. अभी डबल इंजन की सरकार में बिहार को क्या मिला. लालू जी जब सत्ता में आए थे तो उस समय 2200 करोड़ का बजट घाटा था. जब राजद  ने सत्ता नीतीश जी को सौंपी थी उस समय राज्य को 3700 करोड़ का बजटीय लाभ सौंपा था. पिछले 15 सालों में क्या हुआ. प्रत्येक बिहारी पर 25 हज़ार का कर्ज हो चुका है. बिहार के खजाने की लूट हो रही है. बिहार  बेरोजगारी का केन्द्र बन गया है. छोटी छोटी नौकरियों के लिए लाखों की संख्या मे उच्च शिक्षा प्राप्त युवक आवेदन कर रहे हैं. जीडीपी लगातार गिर रही है.


उन्होंने कहा कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह में क्या हुआ. मुख्य आरोपी को सजा मिली है मगर बहुत सारे दोषी छूटे हुए हैं. बच्चों के साथ घिनौना कार्य करने वाले नहीं बचेंगे. अपराध, लूट, हत्या की घटनाएं बेतहाशा बढ़ रही हैं. सरकार अपना इकबाल समाप्त कर चुकी है.

टिप्पणियां

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जल जीवन और हरियाली के लिए बनाई गई मानव श्रृंखला पूरी तरह से फ्लॉप रही. मानव श्रृंखला बनाना ही थी तो बेरोजगारी के विरुद्ध बनाते. उन्होंने एनआरसी एवं सीएए पर अपनी नाराजगी जताई और कहा कि यह मानवता और संविधान के विरुद्ध है. मुख्यमंत्री जी बताएं कि एनआरसी लागू होगा या नहीं. अमित शाह जी कह रहे हैं कि एनआरसी का पहला कदम एनपीआर है.

तेजस्वी ने नौजवानों से आह्वान किया कि वे उनका हाथ मज़बूत करें तो वे बेरोजगारी से मुक्ति दिलाएंगे. फरवरी माह से वे राज्य में बेरोजगारी हटाओ यात्रा प्रारंभ करेंगे. यात्रा की तारीख की घोषणा बाद में की जाएगी. संविधान है तभी लोकतंत्र है. संविधान को बचाने का काम जवानों को करना है. बिहार के लोगों को ज्यादा से ज्यादा रोजगार मिले. बेरोजगारों को उनका अधिकार दिलाएंगे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... नीना गुप्ता ने ट्रांसपेरेंट ब्लैक साड़ी में पुरानी तस्वीर की शेयर, लिखा- ''25 साल पहले भी...''

Advertisement