NDTV Khabar

देश अघोषित आपातकाल और तानाशाही के दौर से गुजर रहा है : लालू प्रसाद यादव

राजद के 21वें स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में लालू ने कहा, देश बहुत खराब दौर से गुजर रहा है. इस कारण सभी कार्यकर्ता लालू प्रसाद बनकर देश को बचाने के लिए आगे आएं.

13 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
देश अघोषित आपातकाल और तानाशाही के दौर से गुजर रहा है : लालू प्रसाद यादव

लालू प्रसाद यादव ने एक बार फिर विपक्षी एकजुटता कायम करने की सभी दलों से अपील की

खास बातें

  1. लालू ने विपक्षी एकजुटता कायम करने की सभी दलों से अपील की
  2. देश में अभी भयावह स्थिति है, देश तानाशाही के दौर से गुजर रहा
  3. राजद अध्यक्ष ने कहा, इस सरकार के समय एक सुई का कारखाना तक नहीं लगा
पटना: राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने बुधवार को कहा कि देश अघोषित आपातकाल और तानाशाही के दौर से गुजर रहा है. उन्होंने कहा कि वह कभी भी सिद्धांत से समझौता नहीं कर सकते, जिसके कारण राष्ट्रपति चुनाव में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के व्यक्ति का समर्थन नहीं किया.

उन्होंने एकबार फिर विपक्षी एकजुटता कायम करने की सभी दलों से अपील की. आरजेडी के 21वें स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए लालू ने कहा, 'देश बहुत खराब दौर से गुजर रहा है. इस कारण सभी कार्यकर्ता लालू प्रसाद बनकर देश को बचाने के लिए आगे आएं.'

लालू ने कहा, 'देश में नफरत फैलाने की कोशिश की जा रही है. राम और रहीम के लोगों को बांटने की कोशिश की जा रही है. गाय के नाम पर निर्दोष लोगों की हत्या की जा रही है. देश के किसान आत्महत्या कर रहे हैं. देश में अभी भयावह स्थिति है. ग्रामीण अर्थव्यवस्था चरमरा गई है.'

आरजेडी नेता ने समान विचारधारा के लोगों को एक साथ आने की अपील करते हुए कहा, 'मायावती और अखिलेश मिल जाएंगे, तो भाजपा का 'गेम ओवर' हो जाएगा. पूरी संभावना है कि अगले चुनाव में दोनों मिल जाएंगे.'

उन्होंने कहा, 'हमलोग एक रणनीति की तरह काम कर रहे हैं. मायावती, अरविंद केजरीवाल, ममता, प्रियंका गांधी, रॉबर्ट वाड्रा को तोड़ने की कोशिश की जा रही है, क्योंकि वे जानते हैं कि सब एक हो जाएंगे तो भाजपा खत्म हो जाएगी.'

उन्होंने भाजपा पर सपना और सब्जबाग दिखाकर केंद्र की सत्ता पर काबिज होने का आरोप लगाया और कहा, 'केंद्र सरकार ने कोई वादा पूरा नहीं किया है. देश में बेरोजगारी बढ़ गई है. देश में इस सरकार के समय एक सुई का कारखाना तक नहीं लगा. देश में कानून-व्यवस्था की स्थिति चरमरा गई है.'

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement