NDTV Khabar

आईआरसीटीसी घोटाले में पेशी आज, तेजस्वी यादव को बेल मिलेगी या जेल?

दिल्ली के पटियाला हाउस के सीबीआई स्पेशल कोर्ट के फैसले पर टिकी नजर, पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी भी होंगी पेश

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आईआरसीटीसी घोटाले में पेशी आज, तेजस्वी यादव को बेल मिलेगी या जेल?

तेजस्वी यादव (फाइल फोटो).

खास बातें

  1. राबड़ी देवी और सरला गुप्ता को जमानत मिलने की संभावना
  2. जांच एजेंसी की दलीलों पर बहुत हद तक निर्भर है तेजस्वी की बेल या जेल
  3. लालू यादव एक बार फिर जेल जाने के बाद रांची के रिम्स में भर्ती
पटना: राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू यादव को एक बार फिर जेल जाने के बाद रांची के रिम्स में भर्ती कराया गया है. राजद  समर्थकों के लिए अब लालू यादव का दोषी करार दिया जाना , जेल जाना कोई खबर नहीं है. लेकिन लालू यादव समेत पूरी पार्टी को इंतजार है शुक्रवार को दिल्ली के पटियाला हाउस स्थित सीबीआई स्पेशल कोर्ट के फैसले का. वहां आईआरसीटीसी घोटाले में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव को पेश होना है. पार्टी का हर नेता यही जानना चाहते है कि तेजस्वी यादव को कोर्ट से बेल मिलेगा या जेल जाना होगा?  

यह एक ऐसा मामला है जिसमें तेजस्वी यादव पहली बार कोर्ट में एक आरोपी के रूप में पेश होंगे. हालांकि लालू यादव के समर्थकों का कहना है कि इस मामले में जहां राबड़ी देवी और पार्टी सांसद प्रेम गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता को महिला होने के आधार पर जमानत मिलने की संभावना अधिक है. वहीं तेजस्वी यादव और अन्य आरोपियों के खिलाफ जेल और बेल का मामला उनके खिलाफ साक्ष्य और उसके बचाव के बीच तर्क में कौन किस पर भारी पड़ता है, इसके पर सारा कुछ निर्भर करता है.

यह भी पढ़ें : IRCTC घोटाला : लालू यादव, राबड़ी और तेजस्वी को समन, 31 अगस्त को अदालत में पेश होने का निर्देश

हालांकि तेजस्वी के नजदीकी लोगों का कहना है कि इस मामले में जांच पूरी हो चुकी है. जांच के दौरान तेजस्वी यादव सीबीआई के बुलाने पर हमेशा हाजिर रहे, इसलिए अब ऐसा कोई हिरासत में पूछताछ के मामले का आधार नहीं बनता है. दूसरी बात यह पूरा मामला दस्तावेजों पर आधारित है इसलिए अगर जमानत मिल जाए तो ट्रायल पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा. लेकिन उनका यह भी कहना है कि जमानत न्यायाधीश के विवेक और ऐसे मामले में जांच एजेंसी की दलीलों पर बहुत हद तक निर्भर करता है.

टिप्पणियां
VIDEO : सीबीआई के समक्ष पेश हुए लालू

हालांकि अगर जमानत मिले या जेल हो, पार्टी की असल मुश्किल है कि इस मामले की ट्रायल शुरू हो जाने पर तेजस्वी यादव को अधिकांश समय दिल्ली में बिताना होगा. इसका प्रतिकूल असर पार्टी पर निश्चित रूप से पड़ेगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement