NDTV Khabar

फिर सामने आया बिहार कांग्रेस का अंदरूनी विवाद...

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चौधरी का कहना है कि कुछ लोग पार्टी पर क़ब्ज़ा करना चाहते हैं. इसके लिये उन्होंने अभी से पार्टी को राजद अध्यक्ष लालू यादव के पास गिरवी रख दिया है. इसलिये पार्टी में असंतोष बढ़ता जा रहा है.

2 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
फिर सामने आया बिहार कांग्रेस का अंदरूनी विवाद...
पटना: बिहार कांग्रेस का आंतरिक विवाद शनिवार को एक बार फिर सार्वजनिक हो गया. मौक़ा था राज्य के पहले मुख्य मंत्री श्रीकृष्ण सिंह की जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम का. लेकिन इस बैठक में अधिकांश कांग्रेसी विधायक नदारद दिखे. सभा स्थल पर कांग्रेस पार्टी विधायक दल के नेता सदानंद सिंह, अशोक राम, भावना झा, सिद्धार्थ, रामदेव राय, शकील अहमद खान, मदन मोहन तिवारी के अलावा कोई विधायक नहीं दिखा. जबकि इस सम्मेलन में पार्टी के महासचिव सी पी जोशी के आने की घोषणा की गयी थी. जोशी हालांकि नहीं आए. वहीं इस कार्यक्रम में बिहार कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कोकब क़ादरी मौजूद थे. लेकिन माना जाता है कि इस कार्यक्रम में राजद अध्यक्ष लालू यादव को मुख्य अतिथि बनाए जाने को लेकर असंतोष था.

हालांकि विधायकों की अनुपस्थिति पर यह सफ़ाई दी गयी कि ये पार्टी का कोई अधिकारिक कार्यक्रम नहीं था. उधर पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चौधरी का कहना है कि कुछ लोग पार्टी पर क़ब्ज़ा करना चाहते हैं. इसके लिये उन्होंने अभी से पार्टी को राजद अध्यक्ष लालू यादव के पास गिरवी रख दिया है. इसलिये पार्टी में असंतोष बढ़ता जा रहा है.

इस कार्यक्रम में लालू यादव ने वहां उपस्थित कांग्रेस के नेताओं को आंतरिक विवाद ख़त्म कर एकजुट रहने की सलाह दी. उन्होंने व्यंग्य में बोला कि कांग्रेस में जिस दिन नेता कुर्सी पर बैठा नहीं कि उसके खिलाफ हटाने की मुहिम शुरू हो जाती है.

VIDEO: मुझे हटाकर दलित समाज का अपमान किया गया है- अशोक चौधरी


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement