NDTV Khabar

सोनपुर मेले में थियेटरों को नहीं मिला लाइसेंस तो महिला डांसरों ने किया हंगामा

सोनपुर मेले में थियेटरों को जिला प्रशासन ने लाइसेंस नहीं दिया तो डांसरों ने जमकर हंगामा किया. सैकड़ों लड़कियां मेले की सड़कों पर उतरकर प्रशासन के विरुद्ध नारेबाजी की.  जिला प्रशासन ने थियेटरों में अश्लीलता के चलते उनकों लाइसेंस देने से मना कर दिया है. 

28 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
सोनपुर मेले में थियेटरों को नहीं मिला लाइसेंस तो महिला डांसरों ने किया हंगामा

सोनपुर मेले में थियेटरों को लाइसेंस नहीं मिलने पर डांसरों ने किया जमकर हंगामा

सोनपुर : सोनपुर मेले में थियेटरों को जिला प्रशासन ने लाइसेंस नहीं दिया तो डांसरों ने जमकर हंगामा किया. सैकड़ों लड़कियां मेले की सड़कों पर उतरकर प्रशासन के विरुद्ध नारेबाजी की.  जिला प्रशासन ने थियेटरों में अश्लीलता के चलते उनकों लाइसेंस देने से मना कर दिया है. 

बिहार के प्रसिद्ध सोनपुर मेले पर भी नोटबंदी का असर, धंधा मंदा होने से व्यापारी उदास

बिहार के सोनपुर मेले में उस वक्त अजीबोगरीब माहौल हो गया जब करीब 600 लड़कियां मेले की सड़कों पर जमकर हंगामा किया और नारेबाजी करने लगी.  लड़कियों के हंगामें और भारी पुलिस बल की तैनाती को देख मेले में आए लोग भी भौचके रह गए.  सोनपुर मेले के थियटरों में डांस करने आई लड़कियां इस बात को लेकर नाराज थी कि जिला प्रशासन के थियेटरों और यहां होने वाले लड़कियों के डांस को लाइसेंस देने से मना कर दिया है, जिसकी वजह से मेले में लाखों रुपये खर्च कर सजेधजे थियेटर शुरू नहीं हो पाए.

यहां हुई थी ‘गज’ और ‘ग्राह’ की लड़ाई, भगवान विष्णु को करना पड़ा था हस्तक्षेप

दरअसल थियटरों में डांस के नाम पर अश्लीलता के आरोप में इस साल जिला प्रशासन ने थियटरों को लाइसेंस देने से मना कर दिया है.  जिसकी वजह से थियेटरों मे डांस करने आई लड़कियां हंगामा करने लगी और मेले की सड़कों पर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगी.  लड़कियों के हंगामे के बाद सकते में आए प्रशासन ने लड़कियों के चारों तरफ पुलिस बल तैनात कर दिया, लेकिन लड़कियां मेले में हंगामा करती रही. थियेटरों में भारी संख्या में पुलिस की तैनाती कर दी गई है.  

बता दें कि एक महीने तक लगने वाले इस मेले में दिल्ली, कानपुर, कोलकाता और अन्य राज्यों से डांसर एवं नर्तकी आती है. एक तरह से माने तो इस एक महीने के थियेटर की कमाई से ये लोग एक साल तक अपना भरण पोषण करते है. ऐसे में थियेटर में डांस करने वाली बबली बताती है कि पिछले दो-तीन सालों से यहां कोई अश्लील प्रदर्शन नहीं होता है. हम लोग अपनी कला दिखाकर मेले में पैसा कमाते हैं. कोई भी यहां गंदा प्रदर्शन नहीं करता फिर भी एसपी साहब परमिशन नहीं दे रहे तो हमलोग भूखे मर जायेंगे. 
 
इन सब के बावजूद सारण के डीएम हरिहर प्रशाद ने बताया कि अगर स्वस्थ वातावण बनेगा तो प्रशासन को कोई एतराज नहीं है , लेकिन कोई पहले की परिपाटी के आधार पर चलेगा तो ऑब्जेक्शन होगा। गौरतलब है कि सोनपुर मेले में थियेटरों में अश्लील प्रदर्शन दिखाने का आरोप लगता रहा है और जिलाधिकारी थियेटरों के बाहर पोस्टरों में कुछ अश्लील तस्वीर लगी देख ली इसी से नाराज जिला प्रशासन ने थियेटरों में अश्लीलता को लेकर लाइसेंस देने से मना कर दिया है। साथ हि थियेटर को लेकर समीक्षा के आश्वासन भी दिए है। 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement