NDTV Khabar

इस बार छठ के नाम पर राबड़ी देवी ईडी के सामने नहीं हुईं पेश

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी एक बार फिर प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश नहीं हुईं. शुक्रवार को पेश होने के लिए उन्हें भेजा गया समन पांचवां समन था, लेकिन वह अब तक किसी न किसी आधार पर समय लेती रही हैं. इस बार के लिए RJD सूत्रों का कहना है कि छठ पर्व पर व्रत रखा होने के कारण शुक्रवार को राबड़ी देवी का पेश होना संभव नहीं था.

1Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इस बार छठ के नाम पर राबड़ी देवी ईडी के सामने नहीं हुईं पेश

बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी.

खास बातें

  1. राबड़ी देवी को ईडी पिछले काफी समय से पूछताछ के लिए बुला रहा है
  2. पहले बी राबड़ी देवी गैर हाजिर रह चुकी हैं.
  3. एक बार फिर राबड़ी देवी ने नए कारण के साथ जाने से मना किया.
पटना: बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी एक बार फिर प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश नहीं हुईं. शुक्रवार को पेश होने के लिए उन्हें भेजा गया समन पांचवां समन था, लेकिन वह अब तक किसी न किसी आधार पर समय लेती रही हैं. इस बार के लिए RJD सूत्रों का कहना है कि छठ पर्व पर व्रत रखा होने के कारण शुक्रवार को राबड़ी देवी का पेश होना संभव नहीं था. हालांकि राबड़ी देवी और उनके परिवार का अंदाज़ा है कि जब तक जांच एजेंसी की ओर से पूछताछ की प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाएगी, उन्हें समन भेजे जाते रहेंगे, लेकिन एजेंसी के सूत्रों का कहना है कि इसके बाद जो नोटिस भेजा जाएगा, उसकी पालना नहीं होने पर कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया जा सकता है.

गौरतलब है कि अब तक राबड़ी देवी के वकील किसी न किसी आधार पर समय लेते रहे हैं. पिछली सुनवाई से पहले राबड़ी देवी की ओर से आग्रह किया गया था कि पूछताछ की प्रक्रिया पटना में होने पर उन्हें सहूलियत होगी, जांच एजेंसी उन्हें दिल्ली बुलाकर ही पूछताछ करने पर अड़ी हुई है.

यह भी पढ़ें : जय शाह मामले में शिवानंद तिवारी ने कसा तंज, कहा- क्या पीएम का 'न खाऊंगा न खाने दूंगा' संकल्प भी 'जुमला' था 

जांच एजेंसी राबड़ी देवी से रेलवे के दो होटलों के बदले ज़मीन के मामले में पूछताछ करना चाहती है. इसी मामले की जांच आयकर विभाग और CBI भी कर रहे हैं. जहां CBI उनके पति व RJD अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और पुत्र तेजस्वी यादव से अलग-अलग सवाल-जवाब कर चुकी है, वहीं बिहार में विपक्ष के मौजूदा नेता तेजस्वी यादव एक बार प्रवर्तन निदेशालय के सामने भी पेश हो चुके हैं, और उन्हें फिर दिल्ली बुलाया गया है.

प्रवर्तन निदेशालय लालू प्रसाद यादव की सबसे बड़ी बेटी और अब RJD सांसद मीसा भारती की दो संपत्तियों को जब्त कर चुका है, सो, लालू परिवार को डर है कि यह ज़मीन भी प्रवर्तन निदेशालय जब्त न कर ले, इसीलिए मामले को खींचा जा रहा है.

VIDEO: राबड़ी देवी भी सृजन घोटाले में शामिल थीं?

वैसे, RJD अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव का दावा है कि यह सारा मामला राजनीति से प्रेरित है, इसीलिये जांच एजेंसी के लोग राजनैतिक दबाव में उनके खिलाफ जांच में तेज़ी दिखा रहे हैं. कुछ माह पहले नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव के बीच टूट हो जाने के पीछे यही मुद्दा बड़ी वजह बना था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement