NDTV Khabar

बिहार में शराब माफिया को बचाने के आरोप में तीन पुलिसकर्मी बर्खास्त

पुलिस अधीक्षक (पश्चिमी) ने शराब माफिया को बचाने में पुलिसकर्मियों की संलिप्तता की जांच की थी और अपनी रिपोर्ट में उन्हें इस आरोप में दोषी करार दिया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार में शराब माफिया को बचाने के आरोप में तीन पुलिसकर्मी बर्खास्त

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

पटना: पटना के बेउर पुलिस थाने में तैनात तीन पुलिसकमर्यिों को शराब माफिया को बचाने के आरोप में सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है. पुलिस ने बताया कि सेंट्रल रेंज के उप-महानिरीक्षक (डीआईजी) राजेश कुमार की ओर से बर्खास्त किए गए तीन पुलिसकर्मियों के नाम विश्वंभर प्रसाद (सब इंस्‍पेक्‍टर), सुनील कुमार (सब इंस्‍पेक्‍टर) और श्रवण कुमार (सहायक सब इंस्‍पेक्‍टर) हैं. पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) मनु महाराज की सिफारिश पर डीआईजी ने बुधवार को इन पुलिसकमर्यिों की बर्खास्तगी के आदेश जारी किए थे. कुमार ने बताया कि पुलिस अधीक्षक (पश्चिमी) ने शराब माफिया को बचाने में पुलिसकर्मियों की संलिप्तता की जांच की थी और अपनी रिपोर्ट में उन्हें इस आरोप में दोषी करार दिया था. उन्होंने बताया कि इससे पहले पुलिस अधीक्षक (पश्चिमी) की रिपोर्ट के आधार पर तीनों पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया था और उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई शुरू की गयी थी.

पटना के डीआईजी कुमार ने बुधवार को फतुहा पुलिस थाने के एसएचओ अविनाश कुमार को निलंबित कर दिया था. बीते सात जून को छापेमारी में बड़ी मात्रा में शराब की बरामदगी के मामले में आगे की कार्रवाई नहीं करने को लेकर कर्तव्य में शिथिलता बरतने के आरोप में अविनाश को निलंबित किया गया.

टिप्पणियां
अविनाश पर यह आरोप भी है कि हत्या के कई अन्य मामलों में उन्होंने अपने वरिष्ठ अधिकारियों के आदेश की अनदेखी की. पिछले साल पांच अप्रैल को बिहार मद्य-निषेध एवं आबकारी अधिनियम-2016 लागू होने के बाद से इन तीन पुलिसकर्मियों सहित 15 पुलिसकर्मी अवैध शराब कारोबारियों से मिलीभगत के आरोप में सेवा से बर्खास्त किए जा चुके हैं.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement