NDTV Khabar

बिहार के सीमांचल में चुनाव जीतने के लिए बीजेपी को नीतीश से ज्यादा योगी पर भरोसा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूनिया में बूथ स्तर के बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार के सीमांचल में चुनाव जीतने के लिए बीजेपी को नीतीश से ज्यादा योगी पर भरोसा

योगी आदित्यनाथ ने पूनिया में बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया.

खास बातें

  1. नीतीश कुमार की सराहना की, उन्हें एक लोकप्रिय मुख्यमंत्री बताया
  2. योगी आदित्यनाथ ने लोगों को कुंभ में आमंत्रित किया
  3. साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण करने के लिए बीजेपी को योगी पर भरोसा
पटना:

जब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने BJP के साथ एक बार फिर सरकार बनाई थी तब यह माना जा रहा था कि कम से कम बिहार में BJP के बाहरी नेताओं को प्रचार करने का मौका कम मिलेगा लेकिन लगता है BJP को अब नीतीश कुमार पर उतना भरोसा नहीं रहा. यही कारण है कि बृहस्पतिवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के लिए पूनिया पहुंचे. यहां उन्होंने मुख्यमंत्री के रूप में नीतीश कुमार के काम की सराहना की और उन्हें एक लोकप्रिय मुख्यमंत्री बताया.

योगी आदित्यनाथ ने BJP के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार जंगल राज से बाहर जा चुका है. पहले नौजवान संकट में थे और कहीं जाने पर अपनी पहचान छिपाते थे. अब नीतीश कुमार के शासन काल में वे अपने आप पर गर्व महसूस करते हैं और बाहर जाने पर कहता हैं कि वे बिहार के निवासी हैं.

लोकसभा चुनाव 2019: यूपी में कांटे की टक्कर! क्या 2014 का प्रदर्शन दोहरा पाएगी BJP?


योगी आदित्यनाथ ने इस अवसर पर लोगों को कुंभ में आने का न्यौता भी दिया और कहा कि अब उन्हें इलाहाबाद नहीं प्रयागराज आना है. वे दिन गए जब लोग फैजाबाद जाते थे. अब उन्हें अयोध्या नगरी जाना पड़ता है. योगी ने दावा किया कि इस वर्ष के कुंभ में जनवरी से पांच फरवरी तक ही करीब रिकॉर्ड 14 करोड़ लोगों ने संगम में स्नान किया है.

VIDEO : बंगाल में बीजेपी नेताओं के हेलिकॉप्टरों को नो एंट्री

टिप्पणियां

दरअसल BJP की रणनीति है कि वहां के चार लोकसभा क्षेत्रों में से जिन दो लोकसभा क्षेत्रों में वह चुनाव लड़ेगी वहां जब तक साम्प्रदायिक रूप से ध्रुवीकरण नहीं होगा तब तक उनके एक उम्मीदवार के जीतने की आशंका कम है. इसलिए वह चाहती है कि या तो योगी जमकर प्रचार करें या उनके जैसे ध्रुवीकरण कराने वाले नेताओं को वहां सक्रिय कर दिया जाए. इसलिए उनका मानना है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से ज़्यादा प्रभावी पार्टी योगी आदित्यनाथ को मानती है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement