NDTV Khabar

बोध गया में महाबोधि मंदिर के कालचक्र परिसर के नजदीक बरामद हुए दो बम, दलाई लामा के भाषण के बाद हुआ था विस्फोट

यह घटना उस समय सामने आई जब तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा बोध गया के दौरे पर आए हुए हैं और मंदिर के परिसर में ही मौजूद हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बोध गया में महाबोधि मंदिर के कालचक्र परिसर के नजदीक बरामद हुए दो बम, दलाई लामा के भाषण के बाद हुआ था विस्फोट

पुलिस ने बताया है कि दो बम कालचक्र परिसर के पास से बरामद हुए हैं.

खास बातें

  1. महाबोधि मंदिर की सुरक्षा को लेकर फिर खतरा
  2. दलाई लामा के भाषण के बाद हुआ था हल्का विस्फोट
  3. साल 2013 में भी हुए थे सीरियल ब्लास्ट
पटना: बिहार केबोध गया जिले में बौद्ध धार्मिक स्थल महाबोधि मंदिर से दो बम बरामद किए गए हैं. इस घटना के बाद से धार्मिक स्थल की सुरक्षा को लेकर एक बार फिर से सवाल खड़े हो गए हैं. यह घटना उस समय सामने आई जब तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा बोध गया के दौरे पर आए हुए हैं और मंदिर के परिसर में ही मौजूद हैं. बताया जा रहा है एक विस्फोट के बाद यहां पर तलाशी के दौरान ये बम स्थानीय पुलिस को मिले हैं. बिहार पुलिस में वरिष्ठ अधिकारी एनएच खान ने बताया है कि दलाई लामा के व्याख्यान देने के बाद जब वह मोनेस्ट्री के अंदर आराम करने गए तो कालचक्र परिसर के पास एक छोटा विस्फोट हुआ था. आनन-फानन में तलाशी शुरू की गई तो दोनों बम वहीं से बरामद किए गए.

गया: पितृपक्ष में महाबोधि मंदिर बना सनातन और बौद्ध धर्मावलंबियों का संगमस्थल

टिप्पणियां
आपको बता दें कि महाबोधि की सुरक्षा पर हमेशा खतरा बना रहता है. साल 2013 में वहां पर सीरियल ब्लास्ट हो चुके हैं जिसमें कई लोग घायल हुए थे. करीब 10 बमों को मंदिर के परिसर के अंदर छिपाया गया था. उस समय गृहमंत्रालय ने मंदिर की सुरक्षा के लिए सीआईएसएफ तैनात करने का फैसला किया था.

वीडियो : साल 2013 में भी हुई थी सुरक्षा में चूक

लेकिन इस योजना को आगे इसलिए नहीं बढ़ाया जा सका क्योंकि मंदिर के श्राइन बोर्ड ने इसका खर्च उठाने में असमर्थता जताई थी और खुद के गार्ड तैनात करने का फैसला किया था. लेकिन शुक्रवार की शाम बरामद हुए इन बमों के बाद से एक बार फिर से चिंता बढ़ गई है.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement