पटना में जल जमाव के लिए जिम्मेदार दो अधिकारियों का हुआ तबादला

पटना शहर में जल जमाव क्यों हुआ इसकी समीक्षा के लिए 24 घंटे के अंदर बिहार सरकार ने न केवल चार सदस्य प्रधान सचिवों की चार समिति की अधिसूचना जारी की.

पटना में जल जमाव के लिए जिम्मेदार दो अधिकारियों का हुआ तबादला

पटना में जल जमाव की फाइल फोटो

बिहार:

पटना शहर में जल जमाव क्यों हुआ इसकी समीक्षा के लिए 24 घंटे के अंदर बिहार सरकार ने न केवल चार सदस्य प्रधान सचिवों की चार समिति की अधिसूचना जारी की. साथ ही जल जमाव के लिए प्रथम दृश्टया ज़िम्मेवार नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद और बुडको के प्रबंध निदेशक अमरेन्द्र कुमार सिंह का तबादला कर दिया. मंगलवार शाम जारी तबादले के आदेश के अनुसार जहां पटना के आयुक्त आनंद किशोर; चैतन्य प्रसाद का स्थान लेंगे. वहीं चंद्रशेखर सिंह; अमरेन्द्र कुमार सिंह के जगह नये प्रबंध निदेशक होंगे. संजय अग्रवाल को पटना का नया आयुक्त का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है.

बिहार में उप चुनाव के लिए प्रचार ने जोर पकड़ा, सुशील मोदी ने किया जनसंपर्क

जांच की अधिसूचना के साथ इन अधिकारियों का तबादला इसलिए किया गया क्योंकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सोमवार को समीक्षा बैठक के दौरान इस बात को लेकर कहीं से भ्रम में नहीं थे कि दोनो अधिकारियों की स्थिलता के कारण सरकार की इतनी किरकिरी हुई. नीतीश कुमार ने जब इन दोनों अधिकारियों के द्वारा पूरे स्थिति के बारे में बताया जा रहा था तब उन्होंने पूछा था कि आखिर सम्प हाउस की जिम्मेदारी किसकी थी और नाले बंद थे तो उसमें किसकी भूल हुई.

यहां तक कि उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी द्वारा जब ये पूछा गया कि हर साल कौन अधिकारी किस सम्प हाउस पर तैनात होगा, उसकी पूरी सूची अख़बार में छपती थी वो आख़िर क्यों नहीं छपा. तब अधिकारियों के पास उसका कोई जवाब नहीं था. नगर विकास और नगर निगम के हालांकि कई अधिकारियों को या तो निलम्बन या उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया गया हैं.

नीतीश कुमार ने की जलजमाव की समीक्षा बैठक, नहीं बुलाए जाने पर BJP के सांसद-विधायक हुए नाराज

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इन अधिकारियों के तबादले के बाद नीतीश कुमार के सहयोगी भाजपा की भी उस मांग से जोड़ कर देखा जा रहा हैं, जब उनके बिहार इकाई के अध्यक्ष संजय जायसवाल ने लगातार अधिकारियों के खिलाफ कारवाई की मांग की थी.

पटना में हुए जल जमाव पर बदले मंत्री के बोल​