NDTV Khabar

बिहार में नई बालू नीति के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन, कई जगह आगजनी, पुलिस ने बरसाईं लाठियां

दानापुर में पुलिस को उस समय बल प्रयोग करना पड़ा जब प्रदर्शनकारियों ने सड़क किनारे दुकानों को बंद कराने की कोशिश की एवं दुकानों से सामान लूटने लगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार में नई बालू नीति के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन, कई जगह आगजनी, पुलिस ने बरसाईं लाठियां

बिहार में बालू नीति के खिलाफ उग्र प्रदर्शन

पटना: बिहार सरकार की नई बालू नीति के खिलाफ ट्रक ऑनर्स एसोसिएशन ने सोमवार से बिहार बंद का ऐलान कर रखा है. मंगलवार को राज्य के विभिन्न जिलों में प्रदर्शकारियों ने सड़कों पर आगजनी कर यातायात को बाधित कर दिया. पटना के दानापुर में पुलिस ने लाठीचार्ज कर प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा. राजधानी पटना के आसपास के इलाकों में भी इस बंद का खासा असर देखा जा रहा है. दानापुर में पुलिस को उस समय बल प्रयोग करना पड़ा जब प्रदर्शनकारियों ने सड़क किनारे दुकानों को बंद कराने की कोशिश की एवं दुकानों से सामान लूटने लगे. इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज कर उपद्रवियों को खदेड़ दिया, तब कहीं जाकर यातायात सामान्य हो सका. हालांकि इसके बाबजूद ट्रकों की लंबी कतार सड़कों पर लगी है. बताया जा रहा है कि मनेर में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव भी किया और मोटरसाइकिल में आग लगा दी.

यह भी पढ़ें : हाईकोर्ट ने बिहार सरकार को दिया निर्देश, पुराने प्रावधानों के मुताबिक खनन का दिया जाए आदेश

टिप्पणियां
सुबह से ही बालू मजदूरों और ट्रक मालिकों के साथ-साथ ट्रक चालकों ने राजधानी पटना आने वाली सड़कों को जाम कर दिया. बिहटा के पास कोईलवर पुल को जाम कर दिए जाने से आरा-पटना मार्ग पर आवागमन पूरी तरह से ठप हो गया. प्रदर्शनकारियों ने सड़क पर टायरों को जलाकर यातायात बाधित कर दिया. बालू नीति के विरोध में प्रदर्शनकारी सड़क पर सीएम नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी और खनन विभाग के प्रधान सचिव केके पाठक के पुतले रखकर सरकार विरोधी नारे लगा रहे थे. ट्रक मालिकों का कहना है कि जब तक सरकार 1972 की पुरानी नीति के आधार पर बालू खनन को चालू नहीं करती है, तब तक चक्का जाम जारी रहेगा. प्रदर्शन कर रहे ट्रक मालिकों समेत वहां मौजूद ड्राइवरों और मजदूरों का आरोप है कि नई बालू नीति से ट्रक मालिकों के साथ-साथ चालकों और मजदूरों के सामने भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है.

VIDEO : बिहार में बालू माफिया ने पुलिस टीम पर किया हमला
बहरहाल बालू खनन का मामला पटना हाईकोर्ट में चल रहा है. तत्काल बालू के खनन एवं टेंडर पर रोक लगा दी गई है. इधर नीतीश सरकार का साफ तौर पर कहना है कि इस व्यापार से माफिया तंत्र को खत्म करने के लिए नई नीति लागू की गई है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement