NDTV Khabar

आखिर बिहार के सात जिलों में क्यों बंद हैं इंटरनेट सेवाएं...

पशुओं से लदे ट्रक को रोककर ड्राइवर की पिटाई; मारने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं, ड्राइवर से पूछताछ

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आखिर बिहार के सात जिलों में क्यों बंद हैं इंटरनेट सेवाएं...

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. अररिया जिले में पशुओं के शव मिलने से बवाल
  2. अफवाह फैलने से रोकने के लिए इंटरनेट बंद किया
  3. सरकार ने कहा- बुधवार से इंटरनेट सेवाएं सामान्य होंगी
पटना:

बिहार के भोजपुर में मंगलवार को एक और घटना में पशुओं से लदे एक ट्रक को रोककर ड्राइवर की पिटाई की गई. इस घटना के बाद पुलिस ने एक बार फिर मारने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई तो नहीं की लेकिन ट्रक ड्राइवर, जो कि उत्तर प्रदेश जा रहा था, से पूछताछ की. भोजपुर जिले में यह दूसरी घटना है.

इस बीच बकरीद के दिन राज्य के अररिया जिले में पशुओं के शव मिलने से शुरू हुआ बवाल राज्य के मधेपुरा तक पहुंच गया है. मधेपुरा के मुरलीगंज में हरिपूरकला साइफन के पास बड़ी संख्या में मृत मवेशियों के बहकर आने के बाद पूरे इलाके में तनाव था. हालांकि प्रशासन के अधिकारी वहां कैम्प कर रहे थे लेकिन दो दिनों तक इस घटना पर बवाल हुआ.

यह भी पढ़ें : तेजस्वी यादव ने किया ट्वीट- यहां इंटरनेट बंद है, जानें क्यों मच गया बवाल


अररिया से मधेपुरा तक मवेशियों के शव मिलने को लेकर हो रहे बवाल के मद्देनजर फिलहाल उस इलाके के सात जिलों - अररिया, मधेपुरा, सुपौल, पूर्णिया, किशनगंज, कटिहार और सहरसा में पिछले तीन दिनों से इंटरनेट सेवाएं बंद हैं. प्रशासन का कहना है कि इस मुद्दे पर सोशल मीडिया में ज्यादा अफवाह न फैलें इसलिए यह कदम उठाया गया है. राज्य पुलिस का मानना है कि आजकल स्थिति बिगाड़ने में सोशल मीडिया के माध्यम से फैली अफवाहों की बड़ी नकारात्मक भूमिका होती है.

टिप्पणियां

VIDEO : अफवाह के बाद हत्या

इनमें से अधिकांश जिले बाढ़ प्रभावित भी हैं जिनका दौरा कांग्रेस महासचिव गुलाम नबी आजाद के अलावा बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव भी कर रहे हैं. हालांकि राज्य सरकार का कहना है कि बुधवार से इंटरनेट सेवाएं सामान्य हो जाएंगी.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement