NDTV Khabar

नीतीश कुमार को क्यों कहना पड़ा- गुस्सा हैं तो बर्बाद कर दीजिए, पर विरोध मत कीजिए

सीएम नीतीश कुमार ने कहा, अगर मुझसे गुस्सा हैं तो बर्बाद कर दीजिए लेकिन शराबबंदी का विरोध मत कीजिए

682 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
नीतीश कुमार को क्यों कहना पड़ा- गुस्सा हैं तो बर्बाद कर दीजिए, पर विरोध मत कीजिए

नीतीश कुमार ने लोगों से कहा है कि मुझसे गुस्सा हैं तो बर्बाद कर दीजिए लेकिन शराबबंदी का विरोध मत कीजिए.

खास बातें

  1. बिहार में पूर्ण शराबबंदी के दो साल होने पर कार्यक्रम आयोजित
  2. नीतीश ने कहा, अवैध शराब का धंधा करने वालों को पकड़वाते क्यों नहीं
  3. शराब से कोई अमीर नहीं गरीब डूबता है, चाहे पिछड़े वर्ग का हो या दलित
पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अगर आप मुझसे गुस्सा हैं तो बर्बाद कर दीजिए लेकिन शराबबंदी का विरोध मत कीजिए.

राज्य में पूर्ण शराबबंदी के दो साल होने पर आयोजित कार्यक्रम में नीतीश ने कहा कि अगर किसी को लग रहा है कि अवैध शराब का धंधा हो रहा है तो उसे पकड़वाते क्यों नहीं हैं. उन्होंने कहा कि पहले दिन से बोल रहे हैं कि हमने सख्त कानून बनाया है लेकिन जब तक सामाजिक अभियान नहीं चलेगा और हर व्यक्ति सचेत नहीं होगा सक्रिय नहीं होगा तब तक कुछ न कुछ धंधेबाज तो रहेंगे ही.

यह भी पढ़ें : नीतीश कुमार सरकार के खिलाफ आरजेडी का आरोप-पत्र, जानिए- क्या है इसमें...

हाल के विधानसभा और लोकसभा उपचुनाव के बाद माना जा रहा था कि नीतीश शराबबंदी के मुद्दे पर कुछ पुनर्विचार करेंगे. लेकिन बृहस्पतिवार को उन्होंने साफ किया कि फिलहाल शराबबंदी और सख्ती से लागू की जाएगी. नीतीश ने कहा कि शराब से कोई अमीर नहीं गरीब डूबता है, वह चाहे पिछड़े वर्ग का हो या दलित वर्ग का.

टिप्पणियां
VIDEO : शराबबंदी के लिए मानव श्रृंखला

नीतीश ने माना कि उनकी बहुत दिलचस्पी इस बात में नहीं है कि सबको पकड़ा जाए. लेकिन नीतीश का दावा है कि फिलहाल बिहार की जेल में शराब के धंधेबाज और पीने वालों को संख्या आठ हजार के करीब होगी. हालांकि उन्होंने माना कि गिरफ्तार लोगों को संख्या एक लाख बीस हजार के करीब होगी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement