NDTV Khabar

आख़िर नीतीश क्यों मानते हैं कि लालू यादव मीडिया के 'डार्लिंग' हैं

नीतीश कुमार ने कहा कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में जेडीयू की कोई उपेक्षा नहीं हुई है, मीडिया को भी अब यह मामला बंद कर देना चाहिए

1547 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
आख़िर नीतीश क्यों मानते हैं कि लालू यादव मीडिया के 'डार्लिंग' हैं

नीतीश ने कहा कि जेडीयू से संबंधित जो भी बात होगी, वह उसे खुद ही सबको बता देंगे...

खास बातें

  1. नीतीश ने लालू यादव को मीडिया में मिल रहे कवरेज को लेकर जताई नाराजगी
  2. लालू यादव को इशारो-इशारों में मीडिया का डार्लिंग बताया
  3. नीतीश ने कहा कि लालू को बिहार की जनता गंभीरता से नहीं लेती
पटना: जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का सोमवार को मीडिया के प्रति दर्द छलका. ख़ासकर उनके इन दिनों के कट्टर विरोधी लालू यादव को मीडिया में मिल रहे ज्यादा कवरेज को लेकर. लालू यादव को मीडिया का 'डार्लिंग' बताते हुए उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार में उनकी पार्टी को शामिल किए जाने को लेकर कोई चर्चा नहीं थी.

नीतीश ने लालू पर निशाना साधाते हुए कहा कि आप लोग के एक और डार्लिंग हैं जिनको आप लोग बहुत प्रमुखता देते हैं. उन्हें कुछ से कुछ बोलने का मौक़ा मिल गया. नीतीश ने कहा कि आप लोग उन्हें कितना प्रमुखता दे दीजिए, बिहार की जनता उन्हें गंभीरता से नहीं लेती. हालांकि उन्होंने ख़ुद स्वीकार भी किया कि 24 घंटे के इतने चैनल हैं और 24 पन्नों के इतने अख़बार तो कवरेज तो मिलेगा ही.

यह भी पढ़ें: नीतीश कुमार ने माना लालू यादव का पूरा भाषण सुना था, रैली को बताया परिवार का उत्सव

नीतीश ने इसी संदर्भ में मीडिया पर बाढ़ पीढ़ितों के लिए चलाए जा रहे राज्य सरकार के प्रयासों को नज़रंदाज करने का भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि बक़रीद के मौक़े पर एक से एक अफ़वाहें फैलाई गईं लेकिन ये पर्व शांतिपूर्वक गुज़र गया. मीडिया के फ़ोकस में ये सब नहीं हैं. नीतीश इस बात से दुखी नजर दिखे कि मीडिया में बिना किसी पुष्टि के एक के बाद एक ख़बरें चला दी जा रही हैं, जैसे प्रधानमंत्री ने अपना भोज स्थगित किया और फिर मीडिया के 'डार्लिंग' यानी लालू उसे आधार बनाकर उनकी आलोचना शुरू कर देते हैं.

यह भी पढ़ें: नीतीश की पार्टी को मंत्री मंडल में जगह नहीं मिलने का हुआ खुलासा, लालू ने बताई असली वजह

राजद की रैली में फ़ोटोशॉप तस्वीर भी स्थानीय क्षेत्रीय चैनल द्वारा चलाए जाने पर नीतीश ने कहा कि चूंकि ये लालू यादव से संबंधित था इसलिए टेलीविज़न चैनल में एक स्टिल पिक्चर चलाया गयालेकिन लालू यादव के मीडिया कवरेज पर अपनी भड़ास निकालने के बाद नीतीश ने कहा कि वो गांधी जी में विश्वास करते हैं, इसलिए काम करते रहेंगे.

नीतीश के इस बयान पर विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट पर जवाब दिया.
उन्होंने एक के बाद कई ट्वीट करके हमला बोला.
 
गौरतलब है कि रविवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार में जद (यू) के शामिल होने के कयास लगाए गए थे। लेकिन मंत्रिमंडल विस्तार में जद (यू) को जगह नहीं मिलने के बाद तरह-तरह की अटकलों का बाजार गर्म है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement