NDTV Khabar

तेजस्वी यादव की यात्रा पर इतना हंगामा क्यों : राजद

जेडीयू के वरिष्‍ठ नेता रामचंद्र प्रसाद सिंह ने रविवार को कहा कि तेजस्वी न्याय यात्रा पर नहीं बल्कि छाती पीटने के यात्रा पर जा रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तेजस्वी यादव की यात्रा पर इतना हंगामा क्यों : राजद

बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्‍वी यादव (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. 'तेजस्वी की यात्रा पर शोर घबराए और डरे हुए लोगों का शोर है'
  2. 'जेल में बंद लालू, बाहर वाले लालू से ज़्यादा भारी हैं'
  3. 'नीतीश कुमार और सुशील मोदी राजनीति के नौसिखुआ नहीं हैं'
पटना: बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव दस फरवरी से पूरे राज्य की यात्रा पर निकलेंगे. इस यात्रा को लेकर जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के नेताओं ने कुछ टिप्पणी की. इसपर राजद का कहना है कि तेजस्वी की यात्रा पर इतनी हाय-तोबा क्यों? जेडीयू के वरिष्‍ठ नेता रामचंद्र प्रसाद सिंह ने रविवार को कहा कि तेजस्वी न्याय यात्रा पर नहीं बल्कि छाती पीटने के यात्रा पर जा रहे हैं. इसपर राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानन्द तिवारी ने कहा कि 'नीतीश कुमार की नज़रों में तेजस्वी अबोध और अज्ञानी हैं. अज्ञानी इतने कि जिन शब्दों को वो ट्वीट करते हैं उसका अर्थ भी नहीं समझते हैं. सुशील मोदी का मानना है कि भ्रष्टाचार के आरोप में जेल गए लालू को जनता ख़ारिज कर चुकी है. अगर सचमुच ऐसा है तो तेजस्वी की यात्रा पर इतना हो-हल्ला क्यों मचाया जा रहा है! दरअसल तेजस्वी की यात्रा पर शोर घबराए और डरे हुए लोगों का शोर है.'

टिप्पणियां
आरसीपी सिंह ने कहा था कि तेजस्वी को न्याय का अर्थ समझना चाहिए कि ख़ज़ाना लूटने के लिए रांची में न्याय हो रहा है, मतलब लालू यादव समेत अन्य आरोपियों को सज़ा मिल रही है. इसपर शिवानन्द ने कहा कि 'नीतीश कुमार और सुशील मोदी राजनीति के नौसिखुआ नहीं हैं. दोनों लालू यादव की ताक़त को जानते हैं. उनको यह भी पता है कि लालू जी के जन-आधार ने तेजस्वी को भविष्य के नेता के रूप में क़ुबूल कर लिया है. सुशील थोड़ा कम लेकिन नीतीश कुमार बख़ूबी समझते हैं कि जेल में बंद लालू, बाहर वाले लालू से ज़्यादा भारी हैं.'

VIDEO: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तेजस्‍वी का तीखा हमला


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement