बर्धमान धमाकों पर सरकार ने शाह के दावों को नकारा, टीएमसी ने कहा, बीजेपी माफी मांगे

बर्धमान धमाकों पर सरकार ने शाह के दावों को नकारा, टीएमसी ने कहा, बीजेपी माफी मांगे

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की फाइल तस्वीर

नई दिल्ली:

शारदा चिट फंड घोटाले की रकम के आतंकवादी गतिविधियों में इस्तेमाल के आरोप पर सरकार और बीजेपी के अलग-अलग सुर सामने आए हैं। केंद्र सरकार के मुताबिक़ अभी तक की सीबीआई जांच में यह नहीं पाया गया है कि शारदा चिट फ़ंड घोटाले की रक़म का इस्तेमाल आतंकवादी कार्रवाई के लिए किया गया। जबकि रविवार को ही कोलकाता में अपनी रैली में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने इस बारे में आरोप लगाया था।

लोकसभा में सीबीआई जांच पर पूछे गए एक लिखित प्रश्न के जवाब में कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग ने कहा कि जाँच से अभी तक ऐसे किसी लेन-देन का पता नहीं चला है कि आतंकवादी कार्यवाहियों को मदद के लिए बांग्लादेश पैसे भेजे गए थे।

शारदा चिट फंड घोटाले को लेकर लगातार बीजेपी के हमले झेल रही तृणमूल कांग्रेस ने सरकार के इस बयान के बाद बीजेपी पर पलटवार किया है। पार्टी ता सुदीप बंदोपाध्याय का कहना है कि बीजेपी को माफ़ी मांगना चाहिए।

हालांकि विवाद बढ़ने पर सरकार को सफाई देने सामने आना पड़ा। प्रधानमंत्री कार्यालय में मंत्री जितेंद्र प्रसाद के मुताबिक़ किसी को क्लीन चिट नहीं दी गई है और जांच अभी जारी है।

लोक सभा में दिए सरकार के बयान से होने वाले नुकसान की आशंका की मद्देनज़र बीजेपी भी मैदान में उतर आई। पार्टी के राष्ट्रीय सचिव और पश्चिम बंगाल के प्रभारी सिद्धार्थ नाथ सिंह का कहना है कि शारदा चिट फंड और वर्धमान बम विस्फोट दो अलग-अलग मामले हैं जिनकी अलग-अलग एजेंसियां जांच कर रही हैं। उनका कहना है कि इसमें कोई विरोधाभास नहीं है।

ये ज़रूर है कि शारदा घोटाले पर सरकार की ओर से आई नई जानकारी बीजेपी के लिए परेशानी का सबब है क्योंकि वो अभी तक जो आरोप लगाती आई है, उन पर ही सवाल खड़े हो गए हैं। वहीं तृणमूल कांग्रेस को आक्रामक होने का मौक़ा भी मिल गया है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com