रवीश कुमार का ब्लॉग: फेसबुक पोस्ट के बाद बिहार सरकार ने दारोगा परीक्षा की पात्रता में किया बदलाव

बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग ने दारोगा परीक्षा फ़ॉर्म भरने की पात्रता में बदलाव कर दिया है. अब जिनके पास बीए की डिग्री 1 अगस्त 2019 तक आई होगी, वे भी भर सकेंगे. इससे लाखों छात्रों को लाभ हुआ है.

रवीश कुमार का ब्लॉग: फेसबुक पोस्ट के बाद बिहार सरकार ने दारोगा परीक्षा की पात्रता में किया बदलाव

बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग ने दारोगा परीक्षा फ़ॉर्म भरने की पात्रता में बदलाव कर दिया है. अब जिनके पास बीए की डिग्री 1 अगस्त 2019 तक आई होगी, वे भी भर सकेंगे. इससे लाखों छात्रों को लाभ हुआ है. सभी मुझे बधाई दे रहे हैं, लेकिन उसकी कोई ज़रूरत नहीं है. अभी दूसरी नौकरियों में कोई बदलाव नहीं आया है. आपलोग मुझे सैंकड़ों की संख्या में बधाई संदेश न दें. दो चार मैसेज काफी है, जिससे पता चल जाए. समस्या वाला मैसेज भी सैंकड़ों में भेजने की ज़रूरत नहीं है. एक ही बात के हजार मैसेज का कोई असर नहीं पड़ता. ये आप सरकार और उसके फ़ालतू मंत्रियों के ट्विटर हैंडल पर करें. वैसे इस काम के लिए बिहार सरकार को बधाई.

उधर, 27 तारीख़ को लखनऊ में 69000 सहायक शिक्षक के परीक्षार्थी रिज़ल्ट को लेकर आंदोलन करेंगे. मैं इनका आंदोलन टीवी पर नहीं दिखाउंगा. अब आप बग़ैर मीडिया के अपने आंदोलन में नैतिक बल लाना सीखें. मैंने एक दो बार दिखा दिया है और कई बार बोल दिया है. अन्य परीक्षार्थियों से अपील है कि वे ऐसे हर आंदोलन का सपोर्ट करें. सिपाही भर्ती वाले भी जाकर सपोर्ट करें और शिक्षक वाले चार लाख लोग सिपाही भर्ती वालों को सपोर्ट करें.

अपने आंदोलन में स्वार्थ की जगह नैतिक बल का विकास करें. अहिंसा और धीरज के साथ परीक्षा की व्यवस्था को जवाबदेह बनाने के लिए करें और सब मिल कर करें. आप अपनी लड़ाई हार चुके हैं. आज का मीडिया जैसा है वैसा आपकी सहमति से भी हुआ है. जो ऐसा नहीं था उसे आप ही गाली दे रहे थे. अब मीडिया समाप्त हो चुका है. अपनी नागरिकता और हैसियत मीडिया के सापेक्ष नहीं, बल्कि अपने आत्मबल और नैतिकबल के सापेक्ष खड़ा करने का प्रयास करें. सफलता मिलेगी.

Newsbeep

राजस्थान और मध्य प्रदेश से भी कई छात्र लिख रहे हैं कि मैं पोस्ट लिख दूं. इतना कातर इस देश की जवानी कब से हो गई? जो यूपी बिहार वालों के लिए कहा है उसे अपने लिए भी पढ़ें. हिन्दी मुस्लिम न करें. अंध राष्ट्रवाद से बचें. कोर्स के अलावा भी किताबें पढ़ें और थोड़ी भी शर्म बची हो तो दहेज़ न लें. परेशान न हो. थोड़ा मस्त रहना सीखें. आप युवाओं की पोलिटिकल क्वालिटी थर्ड क्लास है. ये मैं सामने से बोलता हूं. इसलिए सिस्टम और राजनीति के सामने युवाओं की कोई हैसियत नहीं है. इसे बदलिए. जय हिन्द.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) :इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति NDTV उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार NDTV के नहीं हैं, तथा NDTV उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.