धर्मशाला जैसे विवादों से बचा जाना चाहिए...

धर्मशाला जैसे विवादों से बचा जाना चाहिए...

अनुराग ठाकुर (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

टी-20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान और भारत के बीच कोई मैच बहुत बड़ा आकर्षण होता है, ये पिछले वर्ल्ड कप में मोहाली के मैच ने साबित कर दिया था। लेकिन फिलहाल धर्मशाला में मैच होना है या नहीं इसपर विवाद हो गया है और कठघरे में खड़ी है हिमाचल प्रदेश की कांग्रेस सरकार।

हिमाचल प्रदेश की सरकार ने सुरक्षा का हवाला देकर मैच कराने से हाथ खड़े कर दिए हैं, जिसे लेकर कांग्रेस की कड़ी आलोचना हो रही है और यहां तक कहा जा रहा है कि क्या कांग्रेस में पाकिस्तान को लेकर शिवसेना जैसा रवैया है। इस बीच गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इस मामले को बीसीसीआई और राज्य सरकार को निबटाने को कहा है, यानी कि केंद्र इसमें नहीं पड़ना चाहता।

लेकिन बड़ा सवाल ये है कि पाकिस्तान का भारत में खेलना सुरक्षा के लिहाज से हमेशा से ही एक बड़ा मुद्दा रहा है जैसा कि भारत का पाकिस्तान में खेलना। अगर हम क्रिकेट के लिए ये तस्वीर बदलना चाहते हैं तो आखिरी समय पर इस तरह के विवादों से बचा जाना चाहिए। बीसीसीआई और राज्य सरकार दोनों को धर्मशाला के वेन्यू पर पहले बातचीत तय करनी चाहिए नहीं तो ये क्रिकेट और क्रिकेट फैंस दोनों के लिए निराशा की बात है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

(अभिज्ञान प्रकाश एनडीटीवी इंडिया में सीनियर एक्जीक्यूटिव एडिटर हैं)

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं। इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति एनडीटीवी उत्तरदायी नहीं है। इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं। इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार एनडीटीवी के नहीं हैं, तथा एनडीटीवी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है।