Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

अनुराग द्वारी की कलम से : धोनी की जगह पाने के लिए पांच योद्धाओं में जंग!

ईमेल करें
टिप्पणियां
अनुराग द्वारी की कलम से : धोनी की जगह पाने के लिए पांच योद्धाओं में जंग!

महेंद्र सिंह धोनी की फाइल तस्वीर

भारतीय टेस्ट टीम में लगभग 10 सालों बाद एक जगह खाली हुई है, कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी की बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज़। जब धोनी टीम में थे उनकी जगह लेना मुश्किल था, अब टीम के दरवाजे पर कई विकेटकीपर बल्लेबाज दस्तक दे रहे हैं। 2 दिसंबर 2005, वो दिन जब धोनी ने अपना पहला टेस्ट खेला... उसी वक्त से कई विकेटकीपर बल्लेबाज़ों का अंतरराष्ट्रीय टेस्ट करियर पैवेलियन में बैठने को मजबूर हो गए।  

इन्हीं खिलाड़ियों में शामिल हैं, दिनेश कार्तिक, ऋद्धिमान साहा, पार्थ‍िव पटेल, नमन ओझा और संजू सैमसन। अंबाती रायुडू और रोबिन उथप्पा के नाम भी चर्चा में हैं, लेकिन ये दोनों खिलाड़ी पार्ट टाइम विकेटकीपर हैं। इसलिए कार्तिक, साहा, पटेल, सैमसन और ओझा अब अपनी पारी को गंभीरता से ले सकते हैं।

दिनेश कार्तिक

भारत के लिए 23 टेस्ट मैच खेलकर कार्तिक इस दौड़ में अनुभव के आधार पर सबसे आगे हैं, टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने एक शतक भी जड़ा है। हाल ही में उन्होंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में मध्य प्रदेश के ख़िलाफ अपना 20वां शतक जड़ा है, 125 प्रथम श्रेणी मैचों में उनके नाम 7021 रन हैं, 39.89 की औसत से।

पार्थ‍िव पटेल
पार्थिव पटेल भारत के लिए 20 टेस्ट मैच खेल चुके हैं, टेस्ट की जर्सी उन्हें धोनी से भी पहले मिली थी। 143 फर्स्ट क्लास मैचों में पार्थिव ने 8154 रन बनाए हैं 42.91 की औसत से।

ऋद्धिमान साहा
फिलहाल भारतीय टीम के साथ ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट खेल रहे हैं, 65 फर्स्ट क्लास मैचों में साहा ने 3808 रन बनाए हैं 43.77 की औसत से।

संजू सैमसन
केरल के संजू बहुत तेज़ी से टीम इंडिया के दरवाज़े पर दस्तक दे रहे हैं, उन्होंने 17 फर्स्ट क्लास मैचों में 1068 रन बनाए हैं, 41.07 की औसत से।

नमन ओझा
नमन 105 वन-डे मैचों में 7283 रन बटोर चुके हैं, 43.35 की औसत से। नमन को टीम की नीली जर्सी तो मिली है, लेकिन टेस्ट कैप का इंतज़ार है। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर उन्हें चोटिल धोनी की जगह टीम में रखा गया, लेकिन पहले मैच के बाद टूरिस्ट की तरह वापस भेज दिया गया। 2013-14 सीज़न में उन्हें 11 मैचों में 90.88 की औसत से 1545 रन बनाए हैं।

एनडीटीवी से ख़ास बातचीत में नमन ने कहा मुझे किसी से कोई ख़तरा नहीं है, हां उम्मीद है कि इस प्रदर्शन के बाद मुझे भी मौका मिलेगा। पहले विकेट कीपर बल्लेबाज़ को सिर्फ धोनी नहीं बल्कि टीम में जगह बनाने के लिए कप्तान को टक्कर देनी थी, लेकिन अब मंच खुला है, वैसे मुकाबला अब भी बेहद कड़ा है।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement