NDTV Khabar

आम चुनाव 2019 : BJP की चुनौती

2019 जैसे-जैसे नज़दीक आता जा रहा है, राजनैतिक हालात भी बदलते जा रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आम चुनाव 2019 : BJP की चुनौती
2019 जैसे-जैसे नज़दीक आता जा रहा है, राजनैतिक हालात भी बदलते जा रहे हैं... कहा जा रहा है कि बिहार में नीतीश कुमार BJP से खुश नहीं हैं, और इसकी वजह है सीटों के बंटवारे को लेकर बयानबाजी... मगर अब देखते हैं कि 2014 से लेकर अब तक जितने भी चुनाव हुए हैं, उनमें BJP और उसके सहयोगी दलों की क्या हालत रही है.

2014 में जितने भी चुनाव हुए, BJP और उसके सहयोगी दलों ने जीते, जिनमें हरियाणा, जम्मू एवं कश्मीर, झारखंड और महाराष्ट्र शामिल थे... यह वह वक्त था, जब मतदाताओं पर PM नरेंद्र मोदी का जादू सिर चढ़कर बोल रहा था... लेकिन 2015 में मोदी का जादू नहीं चला... बिहार में JDU और RJD साथ मिलकर लड़ें और BJP गठबंधन को मात दे दी... हालांकि बाद में नीतीश कुमार ने भले ही BJP का दामन थाम लिया, मगर लोगों का वोट BJP के खिलाफ था... उसी तरह दिल्ली में झाड़ू ने BJP को केवल तीन सीटों पर समेट दिया, और आम आदमी पार्टी ने 70 में से 67 सीटें जीतीं... 2016 में पांच राज्यों में चुनाव हुए, जिनमें असम में BJP को सफलता मिली, मगर केरल में लेफ्ट फ्रंट, पुदुच्चेरी में कांग्रेस, तमिलनाडु में AIADMK और पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस ने सरकार बनाई... 2017 में सात राज्यों में चुनाव हुए, जिनमें गोवा में कांग्रेस को अधिक सीटें मिलीं, मगर सरकार BJP की बनी... गुजरात, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और मणिपुर में BJP की सरकारें बनीं, जबकि पंजाब में कांग्रेस के अमरिंदर सिंह ने अकाली-BJP गठबंधन को पटखनी दे दी..

अब बात करते हैं 2018 की... मेघालय और नागालैंड में BJP ने वहां के स्थानीय दलों से गठबंधन किया और सरकार में सहयोगी बनी, जबकि त्रिपुरा में BJP ने अपने दम पर सरकार बनाई... कर्नाटक में JDS और कांग्रेस गठबंधन ने सरकार बनाई... इसका मतलब यह हुआ कि BJP अपने सहयोगी दलों की मदद से राज्य दर राज्य पर कब्ज़ा करती जा रही है, मगर लोकसभा सीटों का आंकड़ा क्या कहता है... 2014 से अब तक 27 लोकसभा उपचुनाव हो चुके हैं, जिनमें से 24 पर BJP लड़ी है, और पांच सीटों पर जीती है... BJP को कुल आठ सीटों का नुकसान हुआ है... इन आठ सीटों में से चार कांग्रेस, दो समाजवादी पार्टी, एक RLD और एक NCP ने जीती हैं.

BJP ने जो पांच सीटें जीती हैं, उनमें से दो-दो सीटें 2014 और 2016 में, और एक सीट 2018 में जीती है... 2017 में BJP की तत्कालीन सहयोगी PDP भी हार गई थी, जब नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारुक अब्दुल्ला ने जीत हासिल की थी... अन्य विपक्षी दलों में BJD, समाजवादी पार्टी, कांग्रेस, NCP और केरल की IUML ने अपनी-अपनी सीटें जीतीं... ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में अपनी सभी चार सीटें बचाई हैं... पालघर उपचुनाव में BJP जब अकेली लड़ी, तो उसका वोट प्रतिशत 53.72 फीसदी से घटकर 31.35 प्रतिशत पर पहुंच गया... यानी, BJP राज्य दर राज्य तो जीतती जा रही है, मगर लोकसभा में उसका प्रदर्शन अच्छा नहीं हो रहा है...

क्या यह 2019 से पहले मिल रहे संकेत हैं या महज़ इत्तफाक... BJP के पास लोकसभा में अब 272 सांसद बचे हैं, जिनमें कीर्ति आज़ाद और दो मनोनीत सदस्य भी शामिल हैं... इसे देखते हुए लगता है कि BJP को अपनी रणनीति पर फिर से विचार कर नए मुद्दों के साथ मैदान में उतरना पड़ेगा...

टिप्पणियां
मनोरंजन भारती NDTV इंडिया में 'सीनियर एक्ज़ीक्यूटिव एडिटर - पॉलिटिकल न्यूज़' हैं...

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति NDTV उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार NDTV के नहीं हैं, तथा NDTV उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement